UP: इस जिले में मिला 158 साल पुराना खजाना, नींव खुदाई में निकला सिक्कों से भरा मिट्टी का बर्तन

261
158 years old treasure in Unnao district

प्राचीन काल को लेकर ऐसी कई कहानियां हमने और आपने सुनी हैं. जिन पर यकीन करना मुश्किल ही नहीं बल्कि नामुमकिन होता है. भारत के तमाम राज्यों से ऐसी खबरें सामने आई हैं जब खुदाई में सालों पुराना खजाना मिला है. अब एक ऐसी ही चौंकाने वाली खबर उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले से सामने आई है. जहां पंचायत भवन निर्माण के लिए नींव की खुदाई चल रही थी. खुदाई के दौरान ही मिट्टी के बर्तन में से 158 साल पुराने चांदी व तांबे के सिक्के निकले. जिसे देख न सिर्फ मजदूर बल्कि वहां मौजूद लोगों की आंखें भी फटी की फटी रह गई. बताया जा रहा है कि, जमीन के अंदर से निकला ये खजाना 1862 का है.

किसने छुपाए सिक्के?
पूरा मामला जिले में सफीपुर ग्राम पंचायत नन्हकऊ का है. जहां पंचायत भवन निर्माण के लिए खुदाई चल रही थी. खजाने की जानकारी मिलते ही मौके पर पुलिस पहुंची और उन्होंने सिक्कों को कब्जे में लेकर एसडीएम कार्यालय पहुंचाया.Unnao Treasure इसके बाद सिक्कों को सील कर डीएम कार्यालय भेज दिया गया है. खजाने को लेकर गांव के लोग अलग-अलग तरह की बातें कर रहे हैं. कुछ लोगों का कहना है कि, सालों पहले जमीन के अंदर किसी ने सिक्के छिपा दिए होंगे. मजदूरों के मुताबिक, जब वह खुदाई कर रहे थे तभी उनका फावड़ा किसी चीज से टकराया. इस पर उन्होंने हाथ से मिट्टी हटाई तो मिट्टी का बर्तन निकला जो चांदी व तांबे के सिक्कों से भरा हुआ था.

पुरातत्व विभाग करेगा जांच
खजाने को लेकर एसडीएम राजेंद्र कुमार का कहना है कि, मिट्टी के बर्तन में से 17 चांदी और 287 सिक्के तांबे के निकले हैं. जो चांदी के सिक्के हैं वह सन 1862 से लेकर 1919 तक के निकले हैं जबकि तांबे के सिक्के इतने पुराने हो चुके हैं कि उनके साल का पता नहीं चल पा रहा है.Unnao Treasure 158 years old फिलहाल इन्हें सील कर पुरातत्व जिलाधिकारी कार्यालय में भेजा जा रहा है. वहां से इन सिक्कों को पुरातत्व विभाग भेजा जाएगा जो इनकी जांच करेगा. लेकिन अनुमान ये है कि, चांदी और तांबे के सिक्के काफी साल पुराने हैं.

ये भी पढ़ेंः- 100 साल पुराने घर की खुदाई में निकला खजाना, सोने-चांदी समेत घड़ों में मिले मुगलकालीन सिक्के