online fuel busines

नई दिल्ली। आप अभी आपना Business शुरू करना चाहते हैं तो आप भी सरकार की इस स्कीम के तहत ऑनलाइन फ्यूल (online fuel business) बेचकर करोड़ों में कमाई कर सकते हैं। इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन (IOC), भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लि. (BPCL), पेट्रोलियम प्रोसेस इंजीनियरिंग सर्विस को. (PESCO) जैसी तेल कंपनियां आपकी इस काम के लिए सहायता करेगी। साथ ही आप सरकार से भी इसके लिए सहायता ले सकते हैं।

सरकार द्वारा पेपफ्यूल डॉट काॅम (Pepfuel.com) मान्यता प्राप्त स्टार्टअप है। पेपफ्यूल्स ने इंडियन ऑयल के साथ थर्ड पार्टी एग्रीमेंट कर रखा है। यह डोर-टू-डोर डिलीवरी (online diesel delivery) करता है। इस ऐप पर ग्राहक ऑनलाइन ऑर्डर कर सकते हैं। इसे नोएडा के टिकेन्द्र, प्रतीक और संदीप ने मिलकर शुरू किया है। इनकी कंपनी का सालाना टर्नओवर 100 करोड़ के आसपास पहुंच चुका है।

टिकेन्द्र के अनुसार इस पर खूब रिसर्च किया है। घर-घर जाकर लोगों से बात की और ऑनलाइन फीडबैक भी लिया है। फीडबैक में लोगों ने कहा कि पेट्रोल-डीजल के लिए ऑनलाइन ऐप होना चाहिए। हालांकि, पेट्रोल-डीजल की ऑनलाइन डिलीवरी का कारोबार शुरू करना बहुत मुश्किल है। टिकेन्द्र के अनुसार 2016 तक देश में पेट्रोल डिलीवरी की अनुमति नहीं थी। सरकार ने इसकी अनुमति हाल ही में दी है। जिसके बाद हमने डीजल की डिलीवरी पर ही काम शुरू कर दिया।

कंपनी के फाउंडर संदीप के अनुसार हमने इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन (IOC), भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लि. (BPCL), पेट्रोलियम प्रोसेस इंजीनियरिंग सर्विस को. (PESCO) जैसी तेल कंपनियों को अपनी योजना भेजी। हमने अपने स्टार्टअप का प्लान PMO को भी भेजा था। फिर हमें PMO से जवाब कुछ दिन बाद आ गया था। फरीदाबाद स्थित इंडियन ऑयल की ओर से भी हमें हमारे कारोबार का डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट सौंपने को कहा गया।’ उन्होंने कहा हमने अपने प्रोजेक्ट की DPR इंडियन ऑयल को भेजी। अनुमति मिलने के बाद हमने अपना बिजनेस शुरू कर दिया।

इसे भी पढ़ें:- चिकित्सा विभाग की दिखी बड़ी लापरवाही, वैक्सीन लगवाने पहुंची महिला को 30 सेकेंड के अंदर लगाया दो डोज

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here