महिला को शादी के 9 साल बाद पता चला, वो है पुरूष, जानें कैसे 30 सालों बाद हुआ खुलासा

0
267
Doctor

शरीरिक बनावट कई बार आम इंसान से लेकर बड़े-बड़े डॉक्टरों को भी भ्रम में डाल देती है. कई बार ऐसे केस सामने आते हैं, जिसके बारे में जानने के बाद लोगों के होश उड़ जाते हैं. ऐसा ही एक केस हाल ही में सामने आया है. जिसमें एक महिला 30 सालों से एक औरत जैसी ही लाइफ जी रही थी. लेकिन अब जाकर इस बात का खुलासा हुआ है कि वो महिला नहीं बल्कि पुरूष है. इस बारे में सुनने के बाद खुद उस महिला को भी बड़ा सदमा लगा है. जानकारी के मुताबिक ये मसला पश्चिम बंगाल के बीरभूम जिले का है. यहां की एक 30 साल की स्थानीय निवासी महिला के नाभि के नीचे दर्द से जुड़ी कुछ दिक्कतें हो रही थी. जिसके बाद इस दर्द से जुड़े इलाज के लिए उन्हें कोलकाता स्थित नेताजी सुभाष चंद्र बोस कैंसर हॉस्पिटल ले जाया गया. यहां पर जब क्लीनिकल ऑकोलॉजिस्ट डॉ. अनुपम दत्ता और सर्जिकल ऑकोलॉजिस्ट डॉ. सौमन दास ने महिला का चिकित्सकीय जांच की, तो जो खुलासा हुआ उसे जान डॉक्टर के भी पैरो तले जमीन खिसक गई. दरअसल महिला की असली पहचान ने सिर्फ डॉक्टरों के नहीं बल्कि उसके खुद के भी होश उड़ा दिए.

ये भी पढ़ें:- मजदूरों के मना करने पर खुद सीवर में घुसकर BJP पार्षद ने की सफाई, Social Media पर वायरल हुई तस्वीरें

इस बारे में जानकारी देते हुए डॉ दत्ता ने बताया कि उस पेशेंट के नाभि के नीचे एक छोटा ट्यूमर दिखा है. ऐसे में इसकी जांच हुई तो बायोप्सी में कैंसर का पता चला. यहां तक कि महिला के टेस्टिकुलर में यानी अंडकोष में कैंसर हो गया था. जो शरीर के बाहर न रहकर बल्कि अंदर ही विकसित हो गया था. हैरानी वाली बात तो ये है कि ट्यूमर ही अंडकोष था. जो देखने में बिलकुल महिला जैसे ही था. उसकी आवाज, शरीर का विकास और बाकी सभी अंग महिलाओं की तरह ही दिखाई देते हैं. लेकिन ये भी सच है कि बचपन से ही उसके शरीर में गर्भाशय और अंडाशय नहीं है. यहां तक कि उसे कभी पीरियड्स भी नहीं हुआ.

डॉक्टर का कहना है कि उसकी योनि है लेकिन उसे मेडिकल लैंग्वेज में ब्लाइंड एंडेड वैजाइना कहते हैं. लेकिन उसके शरीर में जैसे ही ये शुरू हुआ वैसे ही खत्म भी हो गया है. इसके साथ ही डॉक्टर ने ये भी बताया कि ये बहुत ही रेयर हालात हैं. ऐसे केस तकरीबन 22,000 लोगों में से एक में ही पाया जाता है. इतना ही नहीं इसी के जैसे इसकी 28 साल की बहन में भी जांच के बाद यही कंडीशन सामने आई है. जिसमें व्यक्ति जेनेटिकली पुरुष होता है लेकिन उसके शरीर की बनावट महिला के जैसे ही होती है. आगे डॉ. दत्ता ने कहा कि अभी उक्त महिला की कीमोथेरेपी की जा रही है, लेकिन उसकी हालत गंभीर है.

आगे डॉक्टर ने ये भी बताया कि अभी तक इतने सालों से वो एक महिला जैसा ही जीवन पुरूष के साथ लगभग एक दशक तक जीती आई है. जानकारी के मुताबिक इस हालात में डॉक्टर मरीज और उसके पति की काउंसलिंग कर रहे हैं और ये लगातार समझाने की कोशिश में लगे हैं कि आगे भी वो उसी तरीके से अपनी जिंदगी जिएं जैसे अभी तक जीते आए हैं. डॉक्टर ने कहा कि मरीज की दो और रिश्तेदारों को भी अतीत में यही समस्या रही है, इसलिए ये पीढी दर पीढ़ी समस्या जैसी लगती है.

ये भी पढ़ें:- दिल्ली पुलिस ने गुनगुनाया तेरी मिट्टी सॉन्ग, अक्षय ने ट्वीट कर बढ़ाया मनोबल, Video हुआ वायरल