कंगना का सपोर्ट करते हुए अर्नब गोस्वामी ने दी उद्धव सरकार को चेतावनी, सुधीर चौधरी ने कह डाली ये बात

337
arnab on udhav

बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत और महाराष्ट्र सरकार की खींचतान ने राजनीतिक रूप ले लिया है। बुधवार सुबह जैसे ही बृन्हमुंबई महानगरपालिका ने एक्ट्रेस कंगना रनौत के बांद्रा के पाली स्थित ऑफिस पर बुल्डोजर चलाया। उसके बाद से ही महाराष्ट्र में मौजूद उद्धव ठाकरे की सरकार विवादों में आ गई। एक तरफ मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को विपक्षी पार्टियां निशाने पर ले रही हैं। तो दूसरी तरफ साथी पार्टियां कांग्रेस और एनसीपी ने भी सरकार के इस कदम पर सवाल खड़े किए हैं। वहीं, सोशल मीडिया पर भी लोग महाराष्ट्र सरकार के खिलाफ जमकर गुस्सा जाहिर कर रहे है। इसी कड़ी में अब दो वरिष्ठ पत्रकारों ने महाराष्ट्र सरकरा से तीखे सवाल उठाए है।

अर्बन गोस्वामी की चेतावनी
दरअसल वरिष्ठ पत्रकार अर्नब गोस्वामी और सुधीर चौधरी ने महाराष्ट्र सरकार के इस कदम की कड़ी आलोचना की हैं। इन दोनों पत्रकारों ने अपने-अपने प्रोग्राम के जरिए महारष्ट्र सरकार से तीखे सवाल करते हुए एक्ट्रेस कंगना रनौत का सपोर्ट किया हैं। अर्नब गोस्वामी ने रिपब्लिक टीवी पर अपने कार्यक्रम ‘पूछता है भारत’ में महाराष्ट्र सरकार की जमकर आलोचना की। उन्होने कहा कि, ‘असत्य का बुल्डोजर सच्चाई का किला नहीं ढहा सकता है उद्धव ठाकरे जी सुन लीजिए। महाराष्ट्र सरकार ने जो किया वह सिर्फ कंगना रनौत के घर पर हमला नहीं था, बल्कि ये सुशांत सिंह राजपूत के लिए इंसाफ मांगने वाले लोगों पर हमला था’।

लोगों की भड़ास से डरो
अर्नब गोस्वामी ने कहा कि, ‘महाराष्ट्र सरकार ने कंगना रनौत के घर पर जो तोड़फोड़ की है वह बीएमसी की कार्रवाई नहीं थी बल्कि बदले की कार्रवाई थी। बड़ा घमंड था कौरवों को अपनी सेना पर, लेकिन अकेले भगवान श्री कृष्ण ने सब का घमंड तोड़ दिया था। सुशांत के लिए सत्य की मांग को आप बीएमसी और बुल्डोजर से नहीं तोड़ पाएंगे उद्धव ठाकरे जी। एक वीरांगना से बदला लेने के लिए महाराष्ट्र की सरकार इस हद तक गिर गई। सोनिया गांधी, शरद पवार, उद्धव ठाकरे और मूवी माफिया सब एक हो गए और कंगना पर अटैक किया। उद्धव ठाकरे सुन लो अब तुम सिर्फ चंद हफ्तों के लिए सत्ता में रहने वाले हो। अपनी भड़ास निकाल लो लेकिन लोगों की भड़ास से डरो।’

सुधीर चौधरी ने की आलोचना
वहीं, दूसरी तरफ वरिष्ठ पत्रकार सुधीर चौधरी ने जी न्यूज़ के अपने कार्यक्रम डीएनए (DNA) में महाराष्ट्र सरकार पर जमकर निशाना साधा। इस कार्यक्रम में सुधीर चौधरी ने कंगना रनौत का खुलकर सपोर्ट किया और महाराष्ट्र सरकार की कड़ी आलोचना की। उन्होंने कहा, ‘कंगना रनौत ने महाराष्ट्र सरकार और मुंबई पुलिस पर आरोप लगाया था कि यह दोनों मिलकर सुशांत के दोषियों को बचाने की कोशिश कर रहे है। इसके बाद शिवसैनिकों ने कंगना के खिलाफ बयानबाजी शुरू की, इतने में उनका मन नहीं भरा तो एक्ट्रेस के खिलाफ अपशब्द इस्तेमाल किए गए और अब बीएमसी ने कंगना रनौत के ऑफिस का एक हिस्सा गिरा दिया।’

‘मलबा’ उद्धव ठाकरे को भारी पड़ेगा
चौधरी ने कहा कि ‘आप बीएमसी की फुर्ती देखिए कि एक दिन पहले नोटिस भेजा और अगले दिन बुल्डोजर चला दिया। आज हम भी जरूर कहना चाहेंगे कि महाराष्ट्र की सरकार के लिए, शिवसेना की सरकार के लिए कंगना रनौत के दफ्तर का ये मलबा बहुत भारी पड़ेगा। जैसी प्रतिक्रिया आ रही है उसे देखकर हम कह सकते हैं कि उद्धव ठाकरे को राजनीतिक तौर पर यह मलबा बहुत भारी पड़ने वाला है। हमारे देश में राजनीति का स्तर चाहे जो भी हो लेकिन जनता इस तरह के राजनीतिक बदले को कतई बर्दाश्त नहीं करती है।’

बता दें कि सुधीर चौधरी और अर्नब गौस्वामी के अलावा मीडिया जगत के तमाम दिग्गज पत्रकारों ने कंगना रनौत का समर्थन किया है। इस दौरान एबीपी न्यूज की एंकर रूबिका लियाकत, आज तक की सीनियर एंकर अंजना ओम कश्यप, आज तक के एंकर रोहित सरदाना जैसे तमाम पत्रकारों ने महाराष्ट्र सरकार के खिलाफ ट्वीट किया था। इसके अलावा पूरे बॉलीवुड जगत ने भी कंगना रनौत का सपोर्ट किया है। जिस वजह से बुधवार सुबह से ही कंगना रनौत ट्विटर पर ट्रेंड कर रही है। हजारों लोगों ने एक्ट्रेस के समर्थन की बात कही हैं।

ये भी पढ़ें:-आलीशान घर, महंगी कार और इतने करोड़ की संपत्ति की मालकिन हैं कंगना रनौत, जीती हैं शाही Life