दुनियाभर के वैज्ञानिक को अक्सर नई-नई चीजों का निर्माण करते देखा गया है. मनुष्य के फायदे के लिए वह कई चीजों की खोज करता है. मेडिकल फील्ड से जुड़े कई रिसर्च भी होते रहते हैं. हाल ही में वैज्ञानिकों के एक ग्रुप ने लैब में इंसानों के दिमाग को उगाने का काम शुरू किया था. उनका रिसर्च काफी हद तक सफल भी हो गया था लेकिन अचानक उन्हें इस दिमाग में आंखें उगी (Eyes Grown From Human Brain) हुई नजर आई. इसके बाद अब वैज्ञानिक इसकी जांच में जुट गए हैं.

बता दें कि साइंटिस्ट्स ने इस रिसर्च की रिपोर्ट में लिखा कि लैब में उगा रहे मिनी ब्रेन्स (Mini Brains) से अचानक आंखें उगने लगी. Science Alert की खबर के मुताबिक़, इस एक्सपेरिमेंट को कर रहे वैज्ञानिकों ने लैब की कटोरी में दो इंसानी दिमाग उगाए थे. वो लगातार इसकी फंक्शनिंग पर ध्यान रख रहे थे. इसी दौरान वैज्ञानिकों ने देखा कि इससे आंखों जैसा एक स्ट्रक्चर पैदा हो रहा है जो रोशनी से प्रभावित होता है. हालांकि, अब वैज्ञानिकों ने इससे भी आंखों की बीमारी पर शोध करने का फैसला किया है.

जर्मनी के यूनिवर्सिटी हॉस्पिटल डुसेलडॉर्फ ( University Hospital Düsseldorf) के न्यूरोसाइंटिस्ट (Neuroscientist) जय गोपालकृष्णन (Jay Gopalakrishnan) ने बताया कि वो इंसानों का दिमाग लैब में उगा रहे थे. ऐसा करने से इंसानों में दिमागी बीमारियों के इलाज में क्रांति आ जाएगी. हालांकि, अब आंखों के उगने से इस रिसर्च में दिमाग और आंखों की बीमारियों के जुड़ाव पर काम शुरू हो जाएगा.

रिसर्च में उगाया गया दिमाग एडल्ट इंसान के स्टेम सेल्स (Stem Cells) से लिया गया था. उसे लैब में सही टेम्पेरेचर और सही माहौल में बड़ा किया जा रहा था. बता दें कि स्टेम सेल्स में कई तरह के टिश्यू उगाने की क्षमता होती है. इस बार इनसे दिमाग उगाया जा रहा था. हालाँकि, अभी तक बड़े हुए दिमाग के विचार और इमोशंस का नामो-निशान नहीं मिला है. इन मिनी ब्रेन्स को उगने में एक महीने का समय लगा है. साथ ही ये साफ़-साफ़ 50 दिन में दिखाई देने लगे थे.

इसे भी पढ़ें-इस एक्टर के साथ किसिंग सीन शूट करते वक्त मदहोश हो गई थीं दीपिका पादुकोण, डायरेक्टर ने किया था दोनों को अलग