Sunday, January 24, 2021
Home वायरल खबर वैज्ञानिकों ने भी माना सोने और हीरे से ज्यादा बेशकीमती होती है...

वैज्ञानिकों ने भी माना सोने और हीरे से ज्यादा बेशकीमती होती है व्हेल की उल्टी

कहा जाता है कि किसी भी इंसान की किस्मत कभी भी कहीं भी पलट सकती है। ऐसा ही कुछ थाइलैंड के एक मछुआरे के साथ हुआ है। उसको एक ऐसी चीज मिल गई जिससे वह एक झटके में अमीर बन गया जोकि कभी उसने सोचा भी नहीं होगा। उसको 100 किलो व्हेल की उल्टी मिल गई है। ये सुनकर आपको थोड़ा अजीब अवश्य लग रहा होगा मगर यह बात सच है। यह एक चट्टान जैसी दिखती है। इसकी तस्करी भी की जाती है। भारत में भी एक किलो व्हेल की उल्टी की कीमत करोड़ों में आंकी जाती है। आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि आखिर क्यों व्हेल की उल्टी सोने और हीरे से भी अधिक कीमत की होती है?

इसे भी पढ़ें:- यहां की लड़कियां चाय-शराब की तरह पीती हैं कोबरा का खून, वजह कर देगी हैरान

एम्बरग्रीसव्हेल के शरीर से अपशिष्ट निकलता है जिसे कुछ वैज्ञानिक उल्टी मानते हैं, तो कई इसे व्हेल का मल बताते हैं। ऐसा देखा गया है कई बार यह पदार्थ व्हेल रेक्टम के माध्यम से बाहर फेंक देती है, कभी ऐसा भी होता है जब यह पदार्थ बड़ा हो जाता है तो व्हेल इसे मुंह से उगल देती है। वैज्ञानिक इसे एम्बरग्रीस कहते हैं। यह एम्बरग्रीस काले या स्लेटी रंग का ठोस, मोम जैसा ज्वलनशील पदार्थ होता है। बता दें यह पदार्थ व्हेल के शरीर के अंदर उसकी सुरक्षा करता है।

एम्बरग्रीसव्हेल समुद्र के तट से दूरी रहती हैं। इसी वजह से उनके शरीर से निकले एम्बरग्रीस को समुद्र के किनारे आने पर कई वर्ष लग जाते हैं। जैसा की आप सभी को पता है कि समुद्र का पानी नमकीन होता है। सूरज की रोशनी कि वजह से यह अपशिष्ट चट्टान जैसी चिकनी, भूरी गांठ में परिवर्तित हो जाती है, जो मोम जैसा लगता है।

एम्बरग्रीसबता दें एम्बरग्रीस का प्रयोग परफ्यूम बनाने में होता है। इस कारण यह काफी कीमती भी होता है। एम्बरग्रीस से बने परफ्यूम की खुशबु काफी वक्त तक बनी रहती है। कुछ लोग इसे तैरता सोना भी कहते हैं। ये 15 ग्राम से 50 किलो तक हो सकता है।

इसे भी पढ़ें:- कब आएगी देश में वैक्सीन, किसे मिलेगी सबसे पहले, क्या होगी कीमत, जानिए PM मोदी की जुबानी

Most Popular