वाह..कमाल हो गया, इस देश ने तो कोरोना की वॉट ही लगा दी, खुशी से झूम रहे हैं लोग

462

जब से महामारी अपने चरम पर पहुंची है, तभी से कोरोना वैक्सीन से जुडी तमाम खबरें सामने आ रही है। कोरोना से जूझ रहे लोग अब वैक्सीन की तरफ निगाहें लगाए राहत के असार में बैठे हैं। चिकित्सक भी इस बात को साफ कर चुके हैं  कि जब तक कोरोना की वैक्सीन बनकर तैयार नहीं हो जाएगी, तब तक इस महामारी से छुटकारा नहीं पाया जा सकता है। इस बीच अब खबर है कि रूस ने दूसरी वैक्सीन भी तैयार कर ली है। रूस ने कहा कि इसका कोई भी साइड इफेक्ट नहीं है। ध्यान रहे कि इससे पहले रूस ने 11 अगस्त को पहली कोरोना वैक्सीन तैयार की थी, लेकिन  उसके कुछ साइड इफेक्ट सामने आए थे, जिसके बाद अब रूस ने दूसरी वैक्सीन लॉन्च की है। यह वैक्सीन बिना किसी साइड इफेक्ट के मरीजों का उपाचर करेगी।

ये भी पढ़े :स्वास्थ्य मंत्री ने जताई बड़ी उम्मीद, इस साल के आखिरी में आ सकती है कोरोना वैक्सीन 

रूस ने अपने द्वारा लॉन्च की गई इस वैक्सीन का नामकरण भी कर चुका है। रूस ने गत 11 अगस्त को जिस वैक्सीन को लॉन्च किया था, उसका नाम  Sputnik5 रखा था और दूसरी वैक्सीन का नाम  piVacCorEona दिया है। रूस ने piVacCorEona वैक्सीन का निर्माण साइबेरिया के वर्ल्ड क्लास वायरोलॉजी इंस्टीट्यूट में किया है। उधर, इस संदर्भ में रूसी वैज्ञानिकों का कहना है कि इस वैक्सीन का ट्राइल सितंबर माह में पूरा हो जाएग। अब तक यह वैक्सीन  57 वॉलिन्टर को लगाई जा चुकी है, लेकिन किसी को भी साइड इफेक्ट का सामना नहीं करना पड़ा है।

ऐसे करना है इस्तेमाल 
यहां पर हम आपको बताते चले कि रूस द्वारा बनाई गई वैक्सीन दो खुराक के रूप में मरीजों को देनी है। पहली खुराक के 14 दिन के बाद दूसरी खुराक 21 दिन के बाद दी जाएगी। रूस को उम्मीद है कि अक्टूबर तक इस वैक्सीन को रजिस्टर कर लिया जाएगा और फिर नवंबर में इसका उत्पादन शुरू हो जाएगा। माना जा रहा है कि बहुत जल्द ही इन सभी प्रक्रियाओं के पूरे होने के बाद इस वैक्सीन को मरीजों के बीच उपलब्ध कराया जाएगा।

ये भी पढ़े :73 दिनों के बाद कोरोना को हराएगा भारत, मोदी सरकार ने उठाया ये बड़ा कदम