यूपीवार्ता पर खबर चलने के बाद हरकत में आई पुलिस, अभी भी अधूरी कार्रवाई..कब जागेगी खाकी ?

0
213
up_police

कहते हैं खाकी वर्दी अपने ईमान और अपने फर्ज के लिए ही जानी जाती है। और वास्तव में कुछ ऐसे भी पुलिस अफसर हैं जो अपनी खाकी वर्दी का पूरा सम्मान करते हैं। लेकिन कुछ अफसर ऐसे भी हैं जो वर्दी का सम्मान करने के बजाय उसे जलील करते हैं। तभी तो बदमाश उनकी नाक के नीचे अपराध कर जाते हैं पर अफसरों को भनक तक नहीं लगती। पर जब इनके कारनामों की खबर छाप दी जाती है तब ये थोड़े हरकत में आते हैँ। और अपराधियों को पकड़ने के लिए कार्रवाई शुरू करते हैं। हाल ही में हमने आपको बस्ती जिले के गौर थाना क्षेत्र के मामलों से अवगत कराया था। जिसमें एक महीने के भीतर ही अपराधियों ने कई घटनाओं को अंजाम दिया था। लूट, मारपीट जैसी घटनाएं तो मानो क्षेत्र में आम हो गई थीं। लेकिन इन घटनाओं से लोगों का जीना मुश्किल हो गया था। वो हर वक्त डर के साये में रहने के लिए मजबूर हो गए।

गौर थाना क्षेत्र की खबरों पर जब यूपीवार्ता न्यूज ने नजर डाली। और प्रशासन के खोकले दावों पर सवाल उठाया। तो फौरन पुलिस हरकत में आई। और पत्रकार पर हमला करने वाले अपराधियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की। पत्रकार पर हमला 1 अगस्त को हुआ था। FIRवहीं दूसरी तरफ पुलिस ने सर्राफा व्यापारी पर गोली चलाने वाले बदमाशों को भी पकड़ा। फिलहाल मुख्य आरोपी समेत कई लोग फरार चल रहे हैं। लेकिन उसके तीन साथियों को हिरासत में ले लिया गया है। अपराधी सुरेश सोनी उर्फ तक्षराज ,मोहित मिश्रा और प्रियांशु, गुड्डू सोनी उर्फ महेश सोनी ने व्यापारी परमेश्वर गुप्ता पर उस वक्त हमला किया था। जब वो अपनी दुकान बंद करके घर की तरफ लौट रहे थे। तब बदमाशों ने उन पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी। इस बीच एक गोली परमेश्वर गुप्ता के कमर पर जाकर लगी। इस पर उन्हें घायल अवस्था में अस्पताल में भर्ती कराया गया।

पुलिस ने गिरफ्तार किए गए अपराधियों के पास से 32 बोर का पिस्टल व दो जिंदा कारतूस 32 बोर बरामद किया है। फिलहाल इन तीनों अपराधियों से पुलिस पूछताछ कर रही है। अपराधियों के गिरफ्तारी की बात एसपी पंकज कुमार ने प्रेस वार्ता के दौरान कही। इस दौरान अपर पुलिस अधीक्षक पंकज क्षेत्राधिकारी हरैया राहुल पाण्डेय भी मौजूद थे।

अपराधियों ने पुलिस पूछताछ में घटना पर खुलासा करते हुए कहा कि, उनकी कुछ दिन पहले व्यापारी से कहासुनी हुई थी। जिसमें परमेश्वर(व्यापारी) सोनी(आरोपी) ने हमको बेइज्जत किया था तभी से मैं बदला लेना चाह रहा था। उसी बात को लेकर मैंने मोहित मिश्रा से मिलकर इस पूरी घटना की योजना बनाई। सोनू व सूरज ने अपने अन्य दो साथियों के साथ मिलकर इस घटना को अंजाम दिया। ये भी पढ़ेंः- योगी सरकार के खोखले दावों की खुली पोल, बस्ती जिले का गौर थाना बना अपराधी और दलालों का अड्डा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here