गजब..अब कोरोना पॉजिटिव होने पर इस देश में मरीजों को मिलेगा 94 हजार रूपए

500

कोरोना वायरस का खौफ और रौब दोनों ही अपने चरम पर पहुंचता जा रहा है। लगातार बढ़ती संक्रमितों की संख्या सरकार सहित अन्य लोगों के लिए चिंता का सबब बन चुकी है। वहीं, कोरोना के कहर पर अंकुश लगाने के लिए लगातार अहम कदम उठाए जा रहे हैं। अब इसी बीच खबर है कि एक देश ऐसा भी है, जिसने कोरोना के कहर पर अंकुश लगाने के लिए एक गजब कदम उठाया है। संभवत: पहली दफा में आपको यकीन न हो, लेकिन इस देश ने अपने यहां किसी भी शख्स के कोरोना संक्रमित होने पर उसे 94 हजार रूपए देने का फैसला किया है। उस देश का कहना है कि ऐसा कदम उठाने से कोरोना के कहर पर अंकुश लगाया जा सकता है।

ये भी पढ़े :WHO प्रमुख की कोरोना वायरस पर अहम जानकारी, खुद बताया आखिर क्या है सच्चाई

यहां पर हम आपको बताते चले कि वो देश कोई और नहीं बल्कि अमेरिका है, जिसने किसी भी व्यक्ति के कोरोना संक्रमित होने पर 94 हजार रूपए देने का फैसला किया है। अमेरिका के कैलिफोर्निया के एक काउंटी ने तय किया है कि किसी भी व्यक्ति के कोरोना संक्रमित होने पर उसे 94 हजार रूपए दिए जाएंगे। यह रकम उस मरीज के आइसोलेशन और अन्य उपचार के लिए दिए जाएंगे, चूंकि कमेटी के मुताबिक, कई मौकों पर ऐसा देखा गया है कि अधिक खर्चे के कारण लोग आइसोलेशन का खर्चा नहीं उठा पा रहे हैं, जिसके चलते वे आइसोलेशन के नियमों का संजीदगी से पालन नहीं करते और संक्रमण का खतरा फिर और ज्यादा बढ़ता है, लिहाजा माना जा रहा है कि सरकार ने यह कदम अब कोरोना के खतरे को शुन्य पर लाने के लिए उठाया है।

उधर, लोस एंगल में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक, अगर लोग क्वाराइंटिन और आइसोलेशन में रहने वाले नियमों को संजीदगी नहीं लेंगे तो स्थिति आगामी दिनों में भयावह हो सकती है। इससे संक्रमण का खतरा बढ़ सकता है।  वहीं, 94 हजार रूपए की मदद के लिए संबंधित व्यक्ति को सर्वप्रथम क्लीनिक में टेस्ट कराना होगा। लेकिन हां.. मरीज को यह भी सुनिश्चित करना होगा कि मरीज को पेड लीव सिक न हो और न ही बेरोजगारी भत्ता मिल रहा हो। कमेटी ने अपने  फैसले को लेकर उम्मीद जताई है कि इससे कोरोना का खतरा कम होगा और लोग आइसोलेट और क्वारइंटिन के नियमों का पालन करेंगे।

ये भी पढ़े :कोरोना वायरस को लेकर बुरी खबर, अब तो वैज्ञानिकों ने भी माना नहीं मिलेगा कोरोना से छुटकारा!