कोरोना से मृत व्यक्ति का शव देखकर उड़ गए परिजनों के होश, कब्रिस्तान में ही काटा बवाल, जानें पूरा मामला

85
jamshedpur

देशभर में कोरोना वायरस से हाहाकार मच गया है। इस वायरस की चपेट में लाखों लोग आ गए है और हजारों लोग रोजाना कोरोना वायरस से संक्रमित हो रहे है। इतना ही नहीं, कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या भी दिन-ब-दिन बढ़ती जा रही है लेकिन इस बीच कोविड-19 से मरने वालों के शव की अदला-बदली के मामले भी सामने आ रहे है। झारखंड के जमशेदपुर से भी शव की अदला-बदली के कई मामले सामने आ चुके है लेकिन अब एक और मामला यहां से आया है। जमशेदपुर के एक निजी अस्पताल में कोरोना मरीज के शवों के साथ अदला-बदली का मामला सामने आया है। जिसके बाद मृतक के परिजन ने अस्पताल के खिलाफ शिकायत की है।

दरअसल जमशेदपुर के एसीएस अस्पताल में मोहम्मद समीर अंसारी की कोरोना की वजह से मौत हो गई। जिसके चलते अस्पताल के कर्मचारियों ने शव को पॉलिथीन में पैक करके परिजनों को सौंप दिया। वहीं, परिजनों ने भी पीपीई कीट पहनकर मृतक के अंतिम संस्कार की तैयारी की। लेकिन जैसे ही मृतक के दफनाने के लिए परिजनों ने शव के ऊपर के कपड़े हटाए। तो वहां मौजूद हर किसे के होश उड़ गए। क्योंकि अस्पातल ने परिजनों ने मृतक महिला का शव सौंप दिया गया और मौत पुरुष की हुई थी। अस्पातल से हुई इस गलती पर परिजन काफी भड़क गए। शव को देखने के बाद परिजनों ने कब्रिस्तान में ही हंगामा मचाया। हालाकि, मृतक के परिजनों ने एसीएस हॉस्पिटल के इंचार्ज डॉक्टर मोहम्मद आसिफ को इस मामले की जानकारी दी। हैरानी की बात ये है कि इस जानकारी से उनके भी होश उड़ गए।

वहीं अब इस मामले में झारखंड के मुख्यमंत्री ने संज्ञान लिया है। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने अस्पताल प्रशासन के खिलाफ मामला दर्ज करवाने की बात कही है। दूसरी तरफ मृतक के परिजनों ने अस्पाताल पर कई गंभीर आरोप लगाए है। परिजनों का कहना है कि कोरोना के नाम पर अस्पातल ने उन्हें जमकर लूटा है उनके घर के किसी भी सदस्य से मोहम्मद समीर अंसारी से नहीं मिलने दिया। इतना ही नहीं, बॉडी भी चेक करवाए बिना ही सौंप दी गई।

ये भी पढ़ें:-कोरोना मरीजों के लिए संजीवनी के रूप में ये दवा! तेजी से हो रहा सुधार