खुल गया अंडे का रहस्य! वैज्ञानिकों ने बताया वेज या नॉनवेज? जानिए यहां

1678

अमूमन हर कोई जानना चाहता है कि अंडा वेज है या नॉनवेज?, कुछ लोग समझते हैं कि अंडा शाकाहारी है, बल्कि कईयों का मानना है कि अंडा माशाहारी है। अब ऐसे में अंडे के बारे में अब तक कोई सही तत्थ नहीं जुटा पाया है कि जिससे यह साबित हो सके कि अंडा माशाहारी है या शाकाहारी?, लोग सुनी-सुनाई बातों से ही काम चला रहे हैं. लेकिन इस बीच वैज्ञानिकों ने काफी रिसर्च के बाद पता लगाया है या कि अंडा वेज है या नॉनवेज?. दरअसल शाकाहारी लोगों का मानना है कि अंडा मुर्गी से आया है. इसलिए मुर्गी माशाहारी है तो अंडा भी माशाहरी हुआ। उस पर वैज्ञानिकों का कहना है कि दूध भी जानवरों से आता है तो वह फिर शाकाहारी कैसे हुआ?

अकसर लोगों के मन में यह गलतफहमी है कि अंडे से चूजा निकलता है इसलिए यह माशाहारी है, जबकि बाजार में मिलने वाले सारे अंडे अनफर्टिलाइज्ड होते हैं, यानि इन अंडो से चूजे निकलने का दूर-दूर तक कोई नाता नहीं है। लोगों की गलतफहमी दूर करने के लिए वैज्ञानिकों की साइंस के जरिए यह सवाल का जवाब देने की कोशिश की है, उनके मुताबिक अंडा शाकाहारी होता है।

यह बात को हर किसी को मालूम है कि अंडे के तीन भाग होते हैं, पहला सबसे बाहरी हिस्सा छिलका होता है, दूसरा हिस्से में इसकी सफेदी होती है, वहीं तीसरा हिस्सा योक का होता है जिसे अंडे की जर्दी कहते हैं।

वैज्ञानिक और उनकी रिसर्च के मुताबिक, अंडे के सफेद वाले भाग में सिर्फ प्रोटीन मौजूद होता है, और इसमें मुर्गी का कोई भी अंश मौजूद नहीं होता, और इसी वजह से अंडे के सफेद वाले भाग को शाकाहारी माना गया है। हालांकि इन सब में अंडे का पीला भाग काफी मायने रखता है, चूंकि यह सबसे अधिक पोषत तत्वों से भरपूर होता है, इसीलिए लोग इसे ज्यादा खाना पसंद करते हैं।

अनफर्टिलाइज्ड और फर्टिलाइज्ड अंडे के बीच सिर्फ इतना अंतर होता है कि फर्टिलाइज्ड अंडा अनफर्टिलाइज्ड अंडे के मुकाबले में हल्का पीलापन लिए होता है, जो इसे शाकाहारी साबित करता है। अगर आपके मन का सारा बहम दूर हो

गया हो तो आप बिना हिजक के अंडे खा सकते हैं। इसमें कोई भी माशाहारी के अंश नहीं है, वैज्ञानिकों ने इस पर रिसर्च करके यह जानकारी साझा की है।

ये भी पढ़ें:-दूर हुई आपकी उलझन, अब वैज्ञानिकों से जानिए अंडा शाकाहारी है या मांसाहारी