चालान देने की बजाय युवक ने बाइक को लगाई आग, अब ट्रैफिक पुलिस पर उठे ये सवाल

908

देश में ट्रैफिक नियम पूरी तरह बदल गए है। 1 सितंबर से मोटर व्हीकल एक्ट लागू होने के बाद से ही देश ट्रैफिक पुलिस जमकर चालान काट रही है। सड़क पर जो भी ट्रैफिक नियम का उल्लंघन कर रहा है। उस पर भारी भरकम चालान कट रहा है। जिसके चलते अब लोग अपनी गाड़ी को ही आग लगाते हुए नजर आ रहे है। दरअसल इंदौर से एक ऐसा ही मामला सामने आया है। जहां पर एक युवक ने चालान से परेशान होकर अपनी गाड़ी को आग लगा दी। और उसके बाद वह वहां से भाग गया। लेकिन इस मामले में ट्रैफिक पुलिस की बहुत बड़ी गलती सामने आई है। क्योंकि प्रत्यक्षदर्शियों ने इस पूरे मामले में ट्रैफिक पुलिस को जिम्मेदार ठहराया है। लोगों के मुताबिक, ट्रैफिक पुलिस लोगों को परेशान करके उनसे पैसे ले रही है।

एक प्रत्यक्षदर्शी के मुताबिक, ‘ट्रैफिक पुलिस ने शख्स को रोककर 500 रुपये मांगे थे। घंटे भर उसने ट्रैफिक पुलिस से माफी मांगी। लेकिन ट्रैफिक पुलिस ने उसकी एक नहीं सुनी। इससे परेशान होकर ही उसने अपनी बाइक को आग लगा दी और उसके बाद वहां से चला गया।’ इसके आगे प्रत्यक्षदर्शी ने कहा कि ट्रैफिक पुलिस अपनी पहचान छिपाकर गाड़ियों को रोकते है और उनसे पैसे लेते है। एक अन्य् स्थाननीय व्यक्ति ने बताया कि ‘हम पर 1000 रुपये का जुर्माना लगाया है और घूस के तौर पर ये लोग 500 रुपये ले रहे है और उसके बाद जाने की अनुमत दे रहे है जबकि अभी तक मध्यप्रदेश में नया मोटर व्हीकर एक्ट लागू तक नहीं हुआ।’ ये भी पढ़ें:-महिला के ऐसा करने से एक ट्रैफिक पुलिस का ही कटा इतना बड़ा चालान