इस IAS दंपत्ति को कुत्ता टहलाना पड़ा भारी, एक का लद्दाख तो दूसरे का अरुणाचल प्रदेश हुआ ट्रांसफर, अब सब ले रहे मजे

आईएएस अधिकारी संजीव खिरवार का ट्रांसफर लद्दाख तोर की पत्नी रिंकू डुग्गा का अरुणाचल प्रदेश ट्रांसफर किया गया है। अब सोशल मीडिया पर इस बारे में बातें हो रही है।

0
504
IAS couple

राजधानी दिल्ली में आईएस पति पत्नी को स्टेडियम के अंदर अपने कुत्ते को टहलाना बहुत ही दिक्कत दे गया। कुत्ता टहलाने के लिए स्टेडियम को खाली कराने का मामला सामने आने के बाद दोनों का ट्रांसफर दिल्ली से काफी दूर कर दिया गया। आईएएस अधिकारी संजीव खिरवार का ट्रांसफर लद्दाख तो उनकी की पत्नी रिंकू डुग्गा का अरुणाचल प्रदेश ट्रांसफर किया गया है। अब सोशल मीडिया पर इस बारे में बातें हो रही है।लोग गूगल पर सर्च करने लगे हैं कि अरुणाचल और और लद्दाख के बीच में दूरी कितनी है।

असल में इस आईएएस दंपति को दिल्ली के त्यागराज स्टेडियम में कुत्ता को टहलाते हुए देखा गया था इसकी तस्वीर लेकर रिपोर्ट में बताया गया था कि दिल्ली सरकार के अधिकारी ने इसके लिए खिलाड़ियों को बाहर भिजवा दिया, जिसके बाद वह खाली पड़े स्टेडियम में आराम से अपने कुत्ते और पत्नी के साथ टहलते दिखाई दिए।

सोशल मीडिया पर चर्चा

अब इस बारे में हर जगह चर्चा हो रही है कि पति पत्नी को ट्रांसफर कर कितनी दूर भेजा गया है कोई गूगल पर यह सर्च कर रहा है कि दिल्ली से लद्दाख और अरुणाचल कितनी दूर है, तो कोई दोनों जगहोंइस IAS दंपत्ति को कुत्ता टहलाना पड़ा भारी, एक का लद्दाख तो दूसरे का अरुणाचल प्रदेश हुआ ट्रांसफर, अब सब ले रहे मजे के बीच की दूरी शेयर करके सब के मजे ले रहा है। यही नहीं आईएएस अधिकारी को सोशल मीडिया पर कुत्ते को लेकर भी कई तरीके की राय दी जा रही है।

वैसे बता दें कि लद्दाख और अरुणाचल प्रदेश के बीच की दूरी 3400 किलोमीटर की है यदि आप सड़क से यात्रा करेंगे तो आपको लद्दाख के अरुणाचल पहुंचने में करीबन 65 से 70 घंटे लग सकते हैं तो वहीं जब हमने ट्रैवल साइट पर फ्लाइट के डिस्टेंस का पता किया तो उसमें 20 से 22 घंटे लग सकते हैं। फ्लाइट का किराया 20000 से 25000 रुपये तक का है।

सोशल मीडिया पर अधिकतर लोग गृह मंत्रालय के इस फैसले का स्वागत कर रहे हैं तो वहीं कुछ लोगों का कहना है कि केवल ट्रांसफर कर देना कोई सजा नहीं है। इसी के साथ ही अरुणाचल और लेह जैसीइस IAS दंपत्ति को कुत्ता टहलाना पड़ा भारी, एक का लद्दाख तो दूसरे का अरुणाचल प्रदेश हुआ ट्रांसफर, अब सब ले रहे मजे जगहों पर ट्रांसफर को सजा की तरह बताने का भी विरोध हो रहा है। सोशल मीडिया यूजर्स का कहना है कि वहां मौजूद अधिकारियों के मनोबल पर काफी असर पड़ेगा।

इसे भी पढ़ें-ब्लेजर संग ब्रा पहन कर Malaika Arora ने प्लांट किया सिजलिंग अवतार, लोगों ने लगाई लताड़