gulshan kumar

टी-सीरीज कंपनी भारत की जानी-मानी कंपनी है। जिसे गुलशन कुमार ने कड़ी मेहनत के साथ खड़ा किया था। इस कंपनी ने बॉलीवुड के कई सिंगर्स की किस्मत बदली थी। जिस वजह से गुलशन कुमार बॉलीवुड में सभी के चहेते भी थे लेकिन इस चहेते शख्स की मौत ने बॉलीवुड ही नहीं बल्कि सबके हौश उड़ा दिए थे क्योंकि गुलशन कुमार की मौत किसी बीमारी की वजह से नही हुई थी बल्कि वह तो अंडरवर्ल्ड के निशाने पर आ गए थे। जिस वजह से उनकी आक्समिक मौत की बातें आज भी लोगों की चर्चाओं में रहती है। गुलशन कुमार की मौत का जिक्र खौजी पत्रकार हुसैन जैदी ने अपनी बुक में भी किया है।

हुसैन जैदी ने अपनी बुक My Name is Abu Salem में गुलशन कुमार की मौत से जुड़े कई खुलासे किए गए थे। इस बुक में हुसैन जीद ने लिखा है कि डॉन अबु सलेन में गुलशन कुमार से 10 करोड़ रुपये की फिरौती की मांग की थी। जिसे देनें से गुलशन कुमार ने साफ इनकार कर दिया था। जिस वजह से अबु सलेम को बार-बार गुलशन कुमार को फिरौती के लिए फोन करना पड़ा। लेकिन गुलशन कुमार ने एक बार कुछ ऐसा कह दिया। जिससे अबु सलेम भड़क गया और गुलशन कुमार को मरवाने का प्लान बना बैठा। फिरौती की रकम पर गुलशन कुमार ने अबु सलेम पर कहा था कि इतने रुपए देकर तो मैं वैष्णो देवी में भंडारा करवा दूंगा। यही बात सुनकर अबु सलेम भडक गया।

महाराष्ट्र के पूर्व डीजीपी राकेश मारिया ने भी अपने एक इंटरव्यू में इस बात का जिक्र किया था। उन्होंने कहा था कि, ‘मुझे 12 अप्रैल 1997 को अपने मुखबिर से फोन आया था। उसने मुझे बस इतना ही बताया था- ‘सर गुलशन कुमार का विकेट गिरने वाला है।’ जब मैंने उससे पूछा की कौन गुलशन कुमार का विकेट लेने वाला है? तो उसने कहा अबु सलेम, साहब। उसने अपने शूटर के साथ प्लान बना लिया है। गुलशन कुमार रोज एक शिव मंदिर जाते है वही उनका काम खत्म करने की पूरी प्लानिंग है।’

इसके आगे मारिया ने कहा कि ‘मुखबिल की बात सुनकर मैं चौंक गया। इसके बाद मैंने तुरंत महेश भट्ट को फोन किया और पूछा कि क्या गुलशन कुमार किसी मंदिर में रोज जाते है। इसके बाद मैंने उन्हें ये भी बता दिया कि उनकी जान खतरें में है। जिसके बाद मैंने क्राइम ब्रांच को इस पूरे मामले की जानकारी दी। इस दौरान गुलशन कुमार की सिक्योरिटी को बढ़ा दिया गया था। इस दौरान गुलशन कुमार को भी घर से बाहर न निकलने की बात कही थी लेकिन इसके बाद पुलिस कुछ आगे कदम उठा पाती। उससे पहले ही 12 अगस्त 1997 को अबु सलेम के शूटर ने जीतेश्वर मंदिर में दिन-दहाड़े सबके सामने गुलशन कुमार पर गोलियां चला दी। इस दौरान उन पर 10-12 बार गोलियां चलाई गई थी। जिससे उन्होंने तुरंत दम तोड़ दिया।’

ये भी पढ़ें:-शादी टूटने की खबरों के बाद वायरल हुआ सुनिधि चौहान का एक वीडियो, बेटे के साथ इस तरह नजर आईं सिंगर