डॉक्टरों ने बेजान दिल में डाल दी जान, सोशल मीडिया पर वायरल हुआ वीडियो

0
424
heart

आज के समय में विज्ञान ने काफी तरक्की कर ली है। लगभग हर बीमारी का इलाज साइंस ने ढूंढ निकाला है लेकिन मृत्यु ही एक ऐसी चीज है। जिसका कोई ईलाज नहीं है। मृत्यु के बाद इंसान के सभी अंग काम करना बंद कर देते है। लेकिन अमेरिका में कुछ अलग ही देखने को मिला है। यहां पर एक आदमी की मौत के बाद उसके दिल में फिर से जान डाली गई। अमेरिका की ड्यूक यूनिवर्सिटी के डॉक्टरों ने मृत व्यक्ति के दिल को फिर से धड़काया है। इसके बाद दिल को दूसरे व्यक्ति के शरीर में ट्रांसप्लांट किया। जिसे देख हर कोई हैरान है।

बता दें कि व्यक्ति की सडन कार्डियक डेथ की वजह से मौत हो गई थी। व्यक्ति का रक्त संचार बंद हो गया। और दिल भी पूरी तरह काम करना बंद हो गया था। इस वजह से ड्यूक यूनिवर्सिटी के डॉक्टरों ने पहले दिल को ऑक्सीजन, इलेक्ट्रोलाइट्स और ब्लड देकर धड़काया। इसके बाद इस दिल को किसी और व्यक्ति के शरीर में ट्रांसप्लांट किया गया। हार्ट ट्रांसप्लांट से पहले डॉक्टर्स की टीम ने दिल को धड़काने का वीडियो भी बनाया। जो अब सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रही है। इस वीडियो को देख हर कोई हैरान है। तो वही लोगों ने इस वीडियो को पसंद भी खूब किया है।

हार्ट ट्रांसप्लांट के बाद जैकर श्रोडर के अनुसार, अंगों के दान में समय सबसे प्रमुख भूमिका निभाता है जैसे ही व्यक्ति की मौत होती है। ऑक्सीजन की सप्लाई रुक जाती है। इससे टिश्यू तेजी में खत्म होकर हार्ट की धड़कन को कम करने लगते है। प्राकृतिक मौत के बाद जब दिल की धड़कन रुक जाती है, तब भी दिल तक थोड़ी मात्रा में ऑक्सीजन पहुंच रही होती है। दिल को संक्रमित होने से बचाने के लिए ज्यादा से ज्यादा ठंडे वातावरण में रखा जाता है। इंसान के शरीर में दिल ऐसा ही एक अंग है जो 4-6 घंटे तक काम करता है। दिल को मृत शरीर से निकालकर तुरंत दिल को मशीन की नली से जोड़ दिया जाता था। इसके बाद मशीन से दिल को ऑक्सीन, ब्लड और इलेक्ट्रोलाइट्स सप्लाई होता है। जिसकी वजह से दिल फिर से धड़कना शुरू कर देता है। इस तकनीक को परफ्यूजन कहा जाता है।

ये भी पढ़ें:- जन्म के दौरान ‘प्रेग्नेंट’ थी बेबी गर्ल, 24 घंटे में डॉक्टरों ने ऐसे की मासूम की सर्जरी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here