हैवानियत की हदें पार, अब आश्रम में जबरन साध्वी के साथ 4 लोगों ने किया गैंगरेप, विरोध करने पर पीटा

299
4 people gangraped with Sadhvi

महिलाओं के खिलाफ अपराध तेजी से बढ़ रहे हैं. एक तरफ जहां महिलाओं की सुरक्षा को लेकर हजार वादे किए जा रहे हैं तो वहीं दूसरी तरफ कई ऐसी घटनाएं हर दिन, हर पल देखने और सुनने को मिल रही हैं, जो इन वादों से बिल्कुल परे हैं. इसी बीच झारखंड के गोड्डा से एक शर्मसार कर देने वाली घटना सामने आई है. जहां पर हैवानियत की सारी हदें पार कर दी गई हैं. दरअसल यहां पर एक आश्रम में रहने वाली साध्वी के साथ सामूहिक रेप की घटना को अंजाम दिया गया है. राहत की बात ये है कि पुलिस ने इनमें से तीन हैवानों को अपनी गिरफ्त में ले चुकी है.

ये भी पढ़ें:- कोरोना संक्रमित युवती से एंबुलेंस ड्राइवर ने किया रेप, फिर पहुंचाया कोविड अस्पताल

इस बारे में जानकारी देते हुए पुलिस ने बताया है कि ये चारों आरोपी जबरन सोमवार की देर रात पथवारा गांव के पास स्थित आश्रम में घुस गए थे. इसके बाद बंदूक की नोक पर तपस्वियों को पहले बंधक बनाया, जिसमें चार साध्वियां और एक साधु शामिल थे. पुलिस ने आगे बताया कि जिस वक्त ये आरोपी आश्रम में जबरन घुसे थे उस वक्त रात के करीब ढाई बज रहे थे. हैरानी वाली बात तो ये ही कि ये हैवान आश्रम में दीवार तोड़कर अंदर गए थे. जिस कमरे में ये आरोपी घुसे उसमें तीन साध्वीं सो रही थीं. इनमें से दो ने किसी तरह से खुद को हैवानों की गंदी नजर से बचा लिया था. लेकिन तीसरी साध्वी को उन्होंने वहीं कमरे में ही बंधक बना लिया. इसके बाद जो हुआ उसे सुनने के बाद आपके भी रोंगटे खड़े हो जाएंगे.

दरअसल कमरे में साध्वी महिला को बंधक बनाने के बाद हैवानों ने बारी-बारी से गैंगरेप किया. हालांकि इस दौरान जब साधु ने इस घटना का विरोध भी किया तो बदमाशों ने उन्हें बुरी तरह से पीट दिया. इस घटना के बाद पीड़िता ने मंगलवार को पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज करवाई है. इसके बाद पुलिस जांच के लिए सीधा घटनास्थल पर पहुंची. फिलहाल पुलिस ने तीन हैवानों को तो धर दबोचा है लेकिन इनमें से एक अभी भी गायब है जिसे पकड़ने के लिए लगातार पुलिस सर्च अभियान चली रही है. पुलिस का कहना है कि जिस साध्वी के साथ इस घटना को आरोपियों ने अंजाम दिया है वो किसी धार्मिक समारोह में हिस्सा लेने आश्रम में फरवरी महीने में आई थीं लेकिन, लॉकडाउन के चलते वो यहां से जा नहीं पाई थीं.

इस घटना के बारे में बात करते हुए पुलिस अधीक्षक वाईएस रमेश ने कहा कि, जिन हैवानों को गिरफ्तार किया गया है उनमें से आरोपी दीपक राणा का पहले से ही आपराधिक इतिहास रहा है. उसके खिलाफ जिले के कई थानों में आर्म्स एक्ट, मारपीट समेत तकरीबन आधे दर्जन से ज्यादा केस उसके खिलाफ दर्ज हैं. कुछ समय पहले की बात है जब बेल पर जेल से छूटा था. इस घटना को अंजाम देने के लिए उसने पहले से ही पूरा प्लान तैयार कर लिया था. फिलहाल इस हैवानियत के बाद पूरा साधु समाज गुस्से में हैं. तो वहीं बीजेपी सांसद निशिकांत दुबे ने इस घटना को लेकर कानून व्यवस्था और सरकार पर कई सवाल दागे हैं. उन्होंने इस मामले को लेकर एक ट्वीट भी किया है. जिसमें उन्होंने सरकार को घेरने की कोशिश की है.

ये भी पढ़ें:- UP में नाबालिग के साथ दरिंदगी की पार की सारी हदें, रेप के बाद तेजाब से जलाया, बरामद हुई लाश