कोरोना से संक्रमित होने के बाद..अब मर्दों को हो रही सेक्स से नफरत..शोध में हुआ ऐसा खुलासा!

53

अभी चौतरफा खौफ का आलम है। वजह साफ है.. कोरोना का खतरा। कोरोना से निजात पाने के लिए तरह-तरह के नियम कायदे  कानून का बाजार शुरू हो चुका है। लोगों से साफ लहजे में कहा जा रहा है कि वे घरों से बाहर निकलते समय मुंह पर मास्क लगाए रखें तथा सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का ख्याल रखें। साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखें। किसी से बात करते समय शारीरिक दूरी के साथ दो गज की दूरी के नियमों का भी पालन करें। ऐसा करने से हम और आप कोरोना को मात दे सकते हैं। वहीं, अब कोरोना के कहर पर अंकुश लगाने के लिए तरह-तरह के शोध किए जा रहे हैं, ताकि इस वायरस से छुटकारा पाने के लिए कोई मुनासिब हथियार हासिल किया जा सके।

हुआ एक ऐसा खुलासा भी 
उधर, खुलासों के इस दौर में एक ऐसा खुलासा भी हुआ है, जिसे जान लोगों के होश फाख्ता हो रहे है, तो वहीं कुछ सहम रहे हैं। दरअसल, अभी हाल ही में हुए एक शोध में खुलासा हुआ है कि कोरोना वायरस अब सीधा मर्दों की  मुर्दानगी पर हमला बोल रहे हैं। शोध में कहा गया है कि एक बार कोरोन से संक्रमित होने पर ताउम्र किसी पुरूष के लिए सेक्स करना मुश्किल हो सकता है। हालिया शोध में बताया गया है कि यह कोरोना वायरस सीधा लोगों के स्पर्म पर हमला करता है। जिससे एक तरफ जहां उनका स्पर्म कमजोर पड़ता है तो वहीं दूसरी तरफ इंसान के सेक्स करने की क्षमता कम होती है। कुल मिलाकर हालिया शोध से साफ है कि यह कोरोना वायरस मर्दों को नपुंसक बना रहा है।

12 मर्दों पर हुआ शोध 
यहां पर हम आपको बताते चले कि चीन के टफ्ट्स यूनिवर्सिटी और गांगी मेडिकल कॉलेज ने 12 कोरोना पॉजिटिव मरीजों की मर्दानगी पर रिसर्च किया है, जिसमें यह बताया गया है कि यह वायरस मर्दों के टेस्टिकल्स पर हमला करता है। शोध में सबसे हैरतअंगेज खुलासा यह निकलकर सामने आई है कि शरीर में स्पर्म का डिफॉर्म होने लगता है। इतना ही नहीं, शोध में खुलासा है कि कोरोना वायरस की चपेट में आकर मर्दों का प्राइवेट पार्ट भी सिकुड़ जाता है।

ठीक होने के बाद भी नहीं हो पाते ठीक 
इतना ही नहीं, कुछ लोग यह आस लगाए बैठे रहते हैं कि  कोरोना से ठीक होने के बाद शायद इस समस्या से निजात मिल जाए, लेकिन नहीं.. ऐसा नहीं  होता है। शोध में खुलासा हुआ है कि कोरोना से ठीक होने के बाद भी मर्द नंपुसक बने रहते हैं। शोध में दावा किया गया है कि करोना से संक्रमित होने के बाद स्पर्म विकसित होने की क्षमता खत्म हो जाती। फिलहाल  इस संदर्भ में विस्तृत जानकारी प्राप्त करने हेतु शोध का सिलसिला जारी है। ये भी पढ़े :WHO के बड़े संकेत, इस महीने खत्म हो जाएगा कोरोना! क्योंकि..