नहीं सह पाएं कोरोना का खौफ, BJP विधायक के छोटे भाई ने उठा लिया ऐसा कदम

51

मौजूदा समय में कोरोना का खौफ अपने चरम पर पहुंच रहा है। आलम यह है कि अब हर रोज दम तोड़ते लोगों की वजह से सारा संसार सहम चुका है। लोगों के चेहरों पर शिकन ने अपना बसेरा बना लिया है। इस बीच कई ऐसे  मामले सामने आ रहे हैं, जहां पर लोग कोरोना के खौफ को भी सहन नहीं कर रहा पा रहा हैं और वक्त से पहले ही वो अपनी जिदंगी खत्म कर ले रहे हैं। उधर, अब खबर है कि बीजेपी विधायक कैलाश राजपूत के छोटे भाई संजय राजपूत ने कन्नौज मेडिकल कॉलेज की इमारत से कूदकर जान दे दी है। बीते दिनों संजय कोरोना से संक्रमित पाए गए थे। संक्रमित पाए जाने के बाद उन्हें आइसोलेट किया गया था, मगर शुक्रवार को उनकी स्थिति गंभीर होने के बाद उन्हें फौरन अस्पताल में भर्ती करवाया गया था , लेकिन वे इस खौफ को सहन नहीं कर पाए, जिसके बाद उन्होंने मेडिकल कॉलेज की बिल्डिंग से कूदकर अपनी जीवन लीला हमेशा-हमेशा के लिए समाप्त कर ली।

हालांकि इससे पहले संजय राजपूत के संक्रमित पाए जाने के बाद उनके परिवार के अन्य सदस्यों को भी आईसोलेट किया गया था। इस बीच संजय की हालत कुछ ज्यादा बिगड़ गई और उन्होंने अपनी जिंदगी की लीला को हमेशा-हमेशा के लिए समाप्त कर लिया। उधर, अपने भाई की मौत की खबर लगते हैं कि विधायक कैलाश राजपूत अपने समर्थकों के साथ अस्पताल पहुंचे। वहीं, उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को जैसे ही संजय राजपूत की मौत की खबर लगी तो वे अत्यंत दुखी हुए। उन्होंने कहा कि कैलाश राजपूत के भाई संजय राजपूत की मौत की खबर सुनकर अत्यंत दुखी हूं।

इसके साथ ही सूचना मिलने पर समर्थकों के साथ विधायक कैलाश के अलावा भाजपा जिलाध्यक्ष नरेन्द्र राजपूत, पूर्व जिलाध्यक्ष आनंद सिंह, प्रभाष वर्मा, सतीश राजपूत समेत अन्‍य लोग मेडिकल कॉलेज पहुंच गए। गौरतलब है कि अभी पूरे देश में कोरोना वायरस का कहर अपने चरम पर पहुंच रहा है। लगातार बढ़ते संक्रमितों की संख्या अब यकीनन चिंता का सबब बनते जा रहे हैं। ये भी पढ़े :दिल्ली समेत इन 5 राज्यों में फूटा कोरोना बम, 62% मरीजों को साथ मौतों में भी रिकॉर्ड इजाफा