कोरोना के बाद अब इस बीमारी से खौफ में चीन, जानें कैसे होते हैं लक्षण

102

कोरोना की जन्मस्थलि रही चीन में अब एक और खौफनाक बीमारी ने दस्तक दे दी है। महज एक हफ्ते में इसकी चपेट में आने के बाद दो लोगों के मारे जाने की भी खबर सामने आई है, लिहाजा जहां पर इसका प्रभाव देखने को मिल रहा है, उन सभी इलाकों को सील कर दिया जा रहा है। स्थिति की संवेदनशीलता को भांपते हुए अब लोगों से पहले की तुलना में अधिक सतर्कता बरतने की अपील की जा रही है। ऐसा बताया जा रहा है कि 13वीं शताब्दी में  भी यूरोप में इस बीमारी ने अपने दस्तक से खूब कहर बरपाया था। उस समय यूरोप की आधी आबादी इस बीमारी की चपेट में आने की वजह से मौत के गले जा चुकी थी।

ये भी पढ़े :WHO प्रमुख की कोरोना वायरस पर अहम जानकारी, खुद बताया आखिर क्या है सच्चाई

अब चीन में इस बीमारी ने एक बार फिर से एंट्री ले ली है..वो भी ऐसे समय में जब पूरी दुनिया कोरोना के कहर से त्राहि-त्राहि कर रही है। ऐसे में यह चीन के लिए दोहरी चुनौती साबित हो सकती है। चीन में अब इस बीमारी की एंट्री की वजह से स्वास्थ्यकर्मियों की नींद उड़ी हुई है। यह बीमारी ब्यूबोनिक प्लेग बैक्टीरियल इंफेक्शन की वजह से फैलता है। कालांतर में जब इस बीमारी ने यूरोप में एंट्री ली थी तो इसे ब्लैक डेथ के नाम से जाना गया था। इस बीमारी के लिए प्लैग बिक्टोरिया जिम्मेदार होता है, लेकिन राहत की बात यह है कि यह बीमारी कोई वायरस नहीं है, लिहाजा यदि समय रहने एंटीबॉडी दी जाए तो मरीज की जान बच सकती है। हालांकि, मौजूदा समय में यह बीमारी चीन के मंगोलियई गांव में फैली हुई है। स्वास्थ्य आयोग के मतुाबिक, इस बीमारी की चपेट में आने की वजह से लोगों के शरीर के अंग काम करना बंद कर जाते हैं, जिससे उनकी मौत हुई है। इस बीमारी ने जिन इलाके में भी दस्तक दी है, उसे सील कर दिया गया है। साथ ही जहां पर इसका प्रभाव देखा गया है, वहां के आसपास के लोगों को मेडिकल निगरानी में रखा गया है।

किस वजह से फैलती है बीमारी 
यहां पर हम आपको बताते चले कि इस बीमारी के फैलने के कई कारण होते हैं। सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रीवेंशन के अनुसार, चूहा, गिलहरी और मैमल्स में प्लेग बेक्टरिया मौजूद रहता है। चिकित्सकों के मुताबिक, इनके काटने या फिर इनके संपर्क में आने से यह बीमारी इंसानी शरीर में अपनी पैठ बनाती है। ब्यूबोनिक प्लेग सबसे पहले जंगली चूहों को होता है, इसके बाद यह इंसानी शरीर में अपनी जगह बनाती है। वहीं, इसके लक्षण की बात करें तो तेज बुखार, शरीर में दर्द, कमजोरी सहित शरीर में सूजन आ जाने लगती है।

ये भी पढ़े :कोरोना वायरस को लेकर बुरी खबर, अब तो वैज्ञानिकों ने भी माना नहीं मिलेगा कोरोना से छुटकारा!