चीन के विरोध का शानदार तरीका, यहां चाइनीज़ ऐप्स डिलीट करने पर मिल रहे है काजू-बादाम

0
61
china app

सीमा पर भारत और चीन के बीच तनाव बना हुआ है। लद्दाख की गलवान घाटी में चीनी सेना के साथ झड़प में भारत के 20 जवान शहीद हो गए थे। जिसके बाद से देशभर में चीन का बड़े स्तर पर विरोध हो रहा है। हर तरफ चीनी सामान के बॉयकॉट की मांग उठ रही है। इतना ही नहीं, जगह-जगह पर चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग के पुतले भी जलाए जा रहे है और सोशल मीडिया पर चीन की एप्लीकेशन डिलीट करने की बात हो रही है। लेकिन गुजरात में चीन के विरोध का एक अलग ही तरीका देखने को मिला है। यहां पर चीन की एप्लीकेशन डिलीट करने वालों को काजू-बादाम दिए जा रहे है।

दरअसल गुजरात के आणंद जिले में पेटलाद में खरीद बिक्री संघ ने चीन के विरोध में एक बड़ा फैसला लिया है। संघ ने चीनी एप्लीकेशन अन इंस्टॉल करने वालों को 250 ग्राम ड्रॉय फ्रूट देने का फैसला लिया है। जिसके बाद अब यहां पर हजारों लोग चीन की एप्लीकेशन अन इंस्टॉल कर रहे है और संघ से ड्राई फ्रूट्स ले रहे है। हालत ये है कि लोग लाईन में लगकर टिकटॉक अन इंस्टॉल कर रहे है और ड्राई फ्रूट का पैकेट पा रहे है। जय पटेल नाम के एक शख्स ने बताया कि चीनी एप्लिकेशन हेलो, टिकटोक जैसी एप्लिकेशन अन इंस्टॉल करने पर ड्राई फ्रूट्स मिल रहे है। लोग भी इन एप्स को अन इंस्टॉल कर रहे है और अपने देश के लिए चाईनीज़ कंपनी का विरोध कर रहे है।

बता दें कि जब से देश में चीन का विरोध हुआ है। तब से ही चीनी एप्लीकेशन के डाउनलोड में गिरावट देखने को मिली है। इन दिनों लोग TikTok, Bigo Live, PUBG, Helo जैसी चीनी एप्लीकेशन का खुलकर विरोध कर रहे है लेकिन इससे पहले भारत ही ऐसा देश था जहां पर चीन के अलावा इन एप्लीकेशन का सबसे ज्यादा इस्तेमाल हो रहा था। वित्त वर्ष 2020 की पहली तिमाही TikTok के लिए सबसे शानदार तिमाही रही थी जिसमें उसके 2 अरब डाउनलोड हुए थे। इसमें से भारत की हिस्सेदारी 3.3 फीसदी अथवा 611 मिलियन था।

ये भी पढ़ें:-चीन के खिलाफ अमेरिका ने बनाया तगड़ा प्लान, अब ड्रैगन की आएगी शामत