इस गांव में हुई 4.8 बिलियन साल पुराने उल्कापिंडों की बारिश, लाखों की कीमत में बेचकर लोग हुए मालामाल

38

अंतरिक्ष में उल्कापिंड का टूटना और बिखरना काफी आम बात है वैज्ञानिकों की तरफ से अकसर उल्कापिंड से जुड़ी जानकारियां शेयर की जाती है लेकिन कई बार उल्कापिंड ही पृथ्वी के लिए खतरा बन चुके है। कई बार विशाल उल्कापिंड पृथ्वी के करीब से गुजर कर सबको खतरे में डाल चुका है default तो कई बार उल्कापिंड के टुकड़े धरती पर ही इधर-उधर गिरते हुए नजर आए है। जिन्हें लाखों की कीमत में बेचा जाता है ब्राजील के एक गांव में भी कुछ ऐसा ही हुआ। यहां पर आसमान से बारिश की तरह उल्कापिंड गिरे। जिसके बाद गांव के लोगों ने इस उल्कापिंड को लाखों की कीमत में बेचा।

गांव में उल्कापिंड की बारिश
दरअसल घटना ब्राजील के सैंटा फिलोमेना गांव की है। यहां पर 19 अगस्त की रात उल्कापिंडों की बारिश हुई। इस घटना को देखकर पहले गांववालों के भी होश उड़ गए क्योंकि आसमान से पत्थर गिरना किसी के लिए भी आम बात नहीं है लेकिन इसके बाद ग्रामीणों ने सारे उल्कापिंडों को इकट्ठा कर लिया। brazil-meteorite गांववालों ने इन पत्थरों को मुंह-मांगी कीमत में बेचा है और आज कई लोग इन बेशकीमती पत्थर की वजह से लखपति बन गए। दावा किया गया है कि कई उल्कापिंड 19 लाख से ज्यादा कीमत में भी बेचे गए है और वैज्ञानिक भी इतनी मोटी रकम पर ये पत्थर खरीदने के लिए तैयार हो गए।

19 लाख में खरीदा टुकड़ा
दावा किया गया है कि शोधकर्ताओं ने सबसे बड़े टुकड़े को 19 लाख रुपये देखकर खरीदा है उस पत्थर के टुकड़े का वजन 40 किलोग्राम है। वैज्ञानिकों ने बताया है कि ये टुकड़े उस उल्कापिंड के हैं suspicious जो सौर मंडल बनने के समय का है। इन टुकड़ों का गहन अध्ययन करने से ब्रह्मांड के कई रहस्यों से पर्दा उठ सकता है।

4.6 बिलियन साल पुराना उल्कापिंड
ब्राजील के इस गांववालों के मुताबिक, यहां पर लगभग 200 से ज्यादा उल्कापिंड के टुकड़े गिरे है जो अलग-अलग आकार के है। एडिमार डा कोस्टा रॉड्रिग्स ने बताया कि गांव में जब उल्कापिंड की बारिश हुई तो आसमान धुएं से भर गया। ऐसा लग रहा था ulka-pind कि आसमान से जलते हुए पत्थर गिर रहे है। इन पत्थरों की रिसर्च पाओलो यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिक कर रहे है। वैज्ञानिकों ने बताया है कि ये उल्कापिंड करीबन 4.6 बिलियन साल पुराना है।