जब क्रिकेटर को मिली थी झाडू मारने की नौकरी, तो इस तरह शाहरूख ने बदली थी जिंदगी!

0
109
Cricketer rinku singh

देश में कई ऐसे बड़े क्रिकेटर हैं, जिनकी आज की जिंदगी देखकर ये अंदाजा लगा पाना मुश्किल है कि उनका पास्ट कैसा रहा होगा. हम अक्सर ये सोचते हैं कि इनकी जिंदगी हमेशा से ही शाही रही होगी. लेकिन आपको ये जानकर हैरानी होगी कि कई ऐसे क्रिकेटर हैं, जिनका पूरा बचपन इतनी गरीबी में गुजरा कि उनके पास कई बार खाने तक को पैसे नहीं होते थे. किसी के पास घर नहीं तो किसी के पास पढ़ाई के पैसे नहीं. लेकिन आज के समय में उन्होंने क्रिकेट जगत में अपने आपको ऐसे बनाया है, जहां पर पहुंचने के लिए न जाने कितनी मेहनत करनी पड़ती है. जो इन क्रिकेटरों ने किया है. दरअसल आज हम हम बात करने जा रहे हैं आईपीएल के धाकड़ खिलाड़ी रिंकू सिंह (Rinku Singh) की, जिनकी जिंदगी बदलने में कोलकाता नाइट राइडर्स का बड़ा हाथ रहा है. रणजी खेलने वाला ये खिलाड़ी आईपीएल का कब धमाकेदार क्रिकेटर बन गया ये पता ही नहीं चला.

ये भी पढ़ें:- कभी पेट भरने के लिए कचरा उठाता था क्रिकेटर, अब रोहित-विराट से भी आगे निकल चुका है ये बल्लेबाज!

रिंकू सिंह की जिंदगी कई उतार-चढाव के साथ बीती है. इस समय वो कोलकाता नाइट राइडर्स की टीम से खेल रहे हैं. बाएं हाथ का ये बल्लेबाज यूपी के लिए कभी रणजी ट्रॉफी खेलता था. IPL में आने से पहले रिंकू की आर्थिक हालत काफी ज्यादा खराब थी. रिंकू सिंह (Rinku Singh) उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में साल 1997 में जन्मे थे. उनके पिता सिलेंडर की डिलिवरी करने का काम करते हैं. रिंकू सिंह 5 भाई बहन हैं, जिसमें वो तीसरे नंबर पर हैं. इनमें से सबसे बड़ा भाई ऑटो रिक्शा चलाता है, दूसरा भाई एक कोचिंग सेंटर में जॉब करता है. Cricketer rinku singhजबकि रिंकू सिंह की बचपन से ही क्रिकेट में दिलचस्पी थी. लेकिन घर के हालात इतने ज्यादा खराब थे कि रिंकू ने भाई से उसे भी नौकरी दिलाने की बात कही. ऐसे में जहां रिंकू को भाई नौकरी के लिए ले गया वहां उन्हें झाडू मारने की नौकरी मिल रही थी, वो भी इसलिए क्योंकि रिंकू 9वीं फेल थे.

इस नौकरी के बारे में सुनने के बाद रिंकू को इस बात का अंदाजा हो गया कि सिर्फ क्रिकेट ही एक ऐसा रास्ता है, जिससे वो खुद की और परिवार कि हालत बदल सकते हैं. इसके बाद रिंकू सिंह ने दिल्ली में एक टूर्नामेंट में हिस्सा लिया. यहां से जीतने के बाद उन्हें मैन ऑफ द सीरीज के तौर पर एक मोटरबाइक मिली. इसे रिंकू सिंह ने अपने पिता को दे दी. ऐसे में साइकिल पर सिलेंडर दूसरों के घर पहुंचाने के लिए पिता को मोटरसाइकिल का सहारा मिल गया. हालांकि कहानी यहीं खत्म नहीं हुई क्योंकि रिंकू सिंह के परिवार पर 5 लाख रूपये का कर्ज भी था. लेकिन रिंकू ने हार नहीं मानी और अपने क्रिकेट करियर में रिंकू एक के बाद एक बेहतरीन प्रदर्शन करते गए. Cricketer rinku singhसाल 2014 में रिंकू ने लिस्ट ए क्रिकेट में विदर्भ के खिलाफ अपना डेब्यू किया और इसके बाद वो रणजी ट्रॉफी भी खेले. इस दौरान रिंकू सिंह ने रणजी ट्रॉफी में शानदार प्रदर्शन किया. ऐसे में रिंकू सिंह को यूपी अंडर 19 टीम से खेलने से जुड़ा जो पैसा मिल रहा था, वो उसे अपने घर के खर्च में लगाते थे. इसके साथ ही क्रिकेट में लगातार रिंकू सिंह अपनी बल्लेबाजी को लेकर छाए रहे. फिर उनकी जिंदगी में साल 2018 आया, जिसने उनकी लाइफ ही बदल दी.

80 लाख रुपये में बिके थे रिंकू सिंह
आईपीएल 2018 में जब खिलाड़ियों की रिलीजिंग हुई तो रिंकू सिंह (Rinku Singh) का बेस प्राइज 20 लाख रुपये था. लेकिन इस दौरान रिंकू सिंह की किस्मत ने एक नया मोड़ लिया और उन्हें शाहरुख खान की आईपीएल टीम कोलकाता नाइट राइडर्स ने 80 लाख रुपये में खरीदा. इस पैसों से रिंकू सिंह ने अपने घर का कर्ज तो चुकाया ही इसके साथ ही उन्होंने अपने भाई और बहन की शादी भी की. rinku singh cricketerफिलहाल क्रिकेट में रिंकू सिंह ने अपने आपको उस मुकाम तक अभी नहीं पहुंचाया है, जहां के लिए वो डिसर्व करते हैं. लेकिन इस बात पर यकीन किया जा सकता है कि एक समय में रिंकू सिंह कुछ बड़ा कारनामा जरूर करेंगे. हालांकि इस समय में आईपीएल में वो अपने लंबे-लंबे छक्कों को लगाने के लिए लोगों के बीच काफी मशहूर हैं.

ये भी पढ़ें:- ना धोनी ना विराट, इस क्रिकेटर के लिए धड़कता है सपना चौधरी का दिल, बताई बचपन की बात