जब अमिताभ बच्चन ने दो तस्वीरों को शेयर किया तो दिखा जीवन के विविध रंग

amitabh

मुम्बई। जीवन के संस्मरण  तस्वीरों में होते हैं। फिल्म कलाकारों के सुनहरे पल हमेशा दूसरों के लिए संस्मरण होते हैं। मेगा स्टार अमिताभ बच्चन ने अपने बचपन और मौजूदा दौर की तस्वीरों को शेयर किया है। तस्वीरों के कोलाज में अमिताभ ने जिन्दगी की तस्वीर दिखा दी है। अमिताभ के कोलाज से उनके फैन्स तारीफ कर रहे हंै। अमिताभ बच्चन ने इस फोटो कोलाज को शेयर करते हुए कैप्शन में लिखा है। टोपी का स्टाइल सेम… सिर्फ 78 साल जुड़ गए हैं। कुछ कपड़े और चेहरे पर कुछ अतिरिक्त बाल हैं। और हां… 1942 से 2020…. और ये 16 वां घंटा चालू है। नहीं नहीं नहीं… 2021 चालू है। दरअसल बिग बी ने एक तस्वीर अपने बचपन की शेयर की है। वहीं एक इस दौर की फोटो साझा की है। इस तरह से उन्होंने एक ही फोटो कोलाज में अपने 78 साल के जीवन को समेटने की कोशिश की है। उन्होंने दो तस्वीरों ने जीवन के दो छोर को जोड़ने की कोषिष की है। अमिताभ बच्चन के इस अंदाज को फैन्स ने काफी पसंद किया है। अब तक 4 लाख से ज्यादा लोग उनके फोटो कोलाज को लाइक कर चुके हैं। अमितभ के इस कोलाज पर लोग हार्ट इमोजी शेयर कर रहे हैं। अमिताभ बच्चन अकसर अपनी लाइफ के अहम मोमेंट्स को सोशल मीडिया पर शेयर करते रहते हैं। अमिताभ के फालोअर की संख्या काफी है।

यह भी पढेंः-बी-ग्रेड फिल्मों में काम करती थीं मान्यता, 21 साल बड़े संजय दत्त से शादी करते ही बदली किस्मत

हाल ही में उन्होंने बेटे अभिषेक बच्चन के साथ एक तस्वीर शेयर की थी। यह तस्वीर रूस की थी, जब 14 साल की उम्र में पहली बार अभिषेक बच्चन ने किसी को ऑटोग्राफ दिया था। इसके अलावा पिछले ही दिनों उन्होंने अपनी मां तेजी बच्चन और छोटे भाई अजिताभ के साथ बचपन की एक तस्वीर शेयर की थी। ज्ञात हो कि पिछले दिनों अमिताभ बच्चन ने विराट कोहली और अनुष्का शर्मा की बेटी के जन्म को लेकर भी एक फोटो शेयर किया था। इसमें उन्होंने टीम इंडिया के मौजूदा और पूर्व क्रिकेटरों की लिस्ट शेयर की थी जिनके घर बेटी का जन्म हुआ है।

इसके साथ ही उन्होंने लिखा था कि महेंद्र सिंह धोनी की बेटी महिला क्रिकेट टीम की कप्तान हो सकती है। भले ही अमिताभ बच्चन ने यह पोस्ट मजे लेने के लिए किया था लेकिन वह इसे लेकर ट्रोल भी हो गए थे। दरअसल लोगों ने इसे उनकी वंशवादी सोच से जोड़ दिया था। कई यूजर्स ने उन पर हमला बोलते हुए लिखा था कि यह बॉलीवुड नहीं है, जिसमें वंशवाद चलेगा। कुछ भी हो जीवन चलने का नाम है और लगातार चलना चाहिए।

यह भी पढेंः-कोरोना संदेश : अब काॅलर ट्यून में बदल जाएगी अमिताभ की आवाज