15 साल के लड़के ने अनिल कुंबले का रिकॉर्ड तोड़ा, एक ही पारी में चटकाए सभी 10 विकेट

0
453
Loading...

कोलकाता में जारी अंडर क्रिकेट टूर्नामेंट विजय मर्जेन्ट टॉफी में उस वक्त 1999 में फिरोजशाह कोटला में खेले गए मैच में अनिल कुंबले के प्रदर्शन की याद आ गई, जब विजय मर्जेन्ट टॉफी में महज 15 साल के खिलाड़ी निर्देश बौसाया ने अपने विरोधी टीम के 10 के 10 खिलाड़ियों को अपनी ताबड़तोड़ गेंदबाजी से स्टेडियम से चलता कर दिया। ये अदभुद और अविस्मरणीय परिदृश्य देख वहां मौजूद सभी लोग हैरत में पड़ गए। इस परिदृश्य को देखने के बाद उन्हें तुरंत 1999 में भारत पाकिस्तान के उस मैच की याद आ गई, जिसमें अनिल कुंबले ने अकेले ही अपने दम पर पाकिस्तान के 10 के 10 खिलाड़ियों को पवेलियन की तरफ रवाना कर दिया था। अब एक बार फिर से किसी ने इतिहास को दोहराने और उसके रिकॉर्ड को तोड़ने की जहमत उठाई है। ये भी पढ़े :जन्मदिन विशेष: विजय हजारे ट्रॉफी में इस खिलाड़ी ने मचाया धमाल, हैट्रिक के साथ ये बड़ी उपलब्धि की अपने नाम

यहां हम आपको बता दें कि अनिल कुंबले ने जहां 26.3 ओवर में 74 रन खर्चकर विरोधी टीम के 10 विकेट चटकाए थे तो वहीं निर्देश ने अपने 21 ओवर में 51 रन देकर 10 विकेट हासिल किए। हैरानी वाली बात तो ये है कि यहां पर निर्देश ने 10 ओवर मेडन भी निकाले। वहीं, कुंबले ने फिरोजशाह कोटला स्टेडियम में अब अरूण जेटली स्टेडियम में 9 विकेट मेडन निकाले थे।

निर्देश बोसाया मूल रूप से उत्तर प्रदेश के मेरठ के रहने वाले हैं। वे बतौर गेस्ट बॉलर मेघालय के लिए खेलते हैं। महज 15 साल के निर्देश ने अपनी अविश्वमरणीय व अनुकरणीय प्रदर्शन से वहां मौजूद सभी लोगों के हदय को मंत्रमुग्ध कर दिया। इसी क्रम में निर्देश ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा कि मुझे अभी विश्वास नहीं हो रहा है। मैं पैदा भी नहीं हुआ था, जब अनिल कुंबले ने 10 विकेट चटकाए थे, लेकिन मैंने अनिल कुंबले के बारे में सुना बहुत है। मैं हमेशा से उनके जैसा ही बनना चहता था। मैंने अपने इस प्रदर्शन के बारे में अपने परिवारवालों को बताया, लेकिन ये सब इतनी जल्दी हो जाएगा। मुझे इसके बारे नहीं पता था। ये भी पढ़े :वर्ल्ड कप के लिए अनिल कुंबले ने चुनी टीम, चौथे नंबर पर इस खिलाड़ी को दी जगह

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here