लॉकडाउन के बाद बदल जाएगा क्रिकेट खेलने का तरीका, (ICC) लागू करने जा रहा ये नए नियम

0
282
icc

दुनिया भर में कोरोना महामारी का जाल बिछा हुआ है. जिसकी वजह से अधिकांश देशों में लॉकडाउन की स्थिति अपने चरम पर हैं. वहीं इस महामारी का कहर खेल के मैदान पर भी देखने को मिला है, चूंकि इस वायरस से इस वर्ष होने वाला आईपीएल पर भी ग्रहण लग चुका है. जिसके बाद क्रिकेट प्रेमियों में काफी रोष देखने को मिला. बहरहाल कोरोना महामारी के बाद जब क्रिकेट का खेल शुरु होगा तब अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटरों को अपनी कुछ आम आदतों को बदलना पड़ेगा जैसे उन्हें अभ्यास के दौरान शौचालय जाने और मैदानी अंपायरों को अपनी कैप या सनग्लास सौंपने की इजाजत नहीं होगी. इस बात की जानकारी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) ने दी है.

ये भी पढ़ें:-महामारी के बीच जानिए पहली कोरोना वैक्सीन के बारे में, 100 लोगों पर हुआ ट्राइल, जानिए कैसा रहा परिणाम

बता दें कि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (ICC) के दिशानिर्देश के मुताबिक खिलाड़ी अपने निजी सामान जैसे कैप, तौलिया, सनग्लास, जपर्स आदि अंपायर या साथियों को नहीं सौंप सकते और उन्हें शारीरिक दूरी बनाए रखनी होगी, लेकिन ये साफ नहीं किया गया है कि खिलाड़ियों का सामान कौन रखेगा. शायद खिलाड़ियों को खुद भी रखना पड़ सकता है. यही नहीं अंपायरों को बी गेंद को पकड़ते समय दस्तानों का उपयोग करना होगा.

ICC

इस मामले पर आईसीसी पहले ही गेंद पर लार लगाने पर प्रतिबंध की सिफारिश कर चुकी है और अब खिलाड़ियों को गेंद छूने के बाद आंखें, नाक और मुंह स्पर्श नहीं करने की सलाह दी गई है. इसके अलावा गेंद के संपर्क में आने के बाद अपने हाथ साफ करने के लिए कहा गया है. प्रैक्टिस के दौरान भी खिलाड़ियों की परेशानियां बढ़ सकती हैं क्योंकि उन्हें शौचालय का इस्तेमाल करने की इजाजत नहीं होगी.

ICC_building

इस दौरान खिलाड़ी अपनी कैप और धूप के चश्मों को मैदान पर नहीं रख सकते क्योंकि इससे पेनल्टी रन जा सकते हैं जैसे कि हेलमेट के मामले में होता है. आईसीसी इसके साथ ही चाहती है कि खिलाड़ी मैच से पहले और मैच के बाद ड्रेसिंग रूम में कम समय बिताएं.

ये भी पढ़ें:-कोरोना के बीच क्रिकेट प्रेमियों के लिए बड़ी खबर, सिंतबर में इस दिन से शुरु होगा IPL!