motera match

अहमदाबाद। भारत और इंग्लैंड के बीच खेले गए तीसरे टेस्ट मैच का परिणाम दो दिनों में आने के बाद से मोटेरा की पिच को लेकर आलोचना तेज हो गयी है। इंग्लैंड के पूर्व क्रिकेटर टीम की इस शर्मनाक हार को पचा नहीं पा रहे हैं। क्रिकेटरों को कहना है कि पांच दिन का टेस्ट मैच दो दिन में खत्म हो जाना ठीक नहीं है। माना जा रहा था कि इंग्लैंड की टीम पिच की शिकायत आईसीसी से करेगी। इंग्लैंड के कोच सिल्वरवुड ने इन सभी अटकलों पर विराम लगा दिया है। उन्होंने कहा कि हम अगले टेस्ट मैच की ओर देख रहे हैं। चेन्नई के चेपॉक में दूसरे टेस्ट में मिली हार के बाद भी पिच पर कई तरह के सवाल उठे हैं। माना जा रहा है कि अगर आईसीसी अहमदाबाद की पिच को खराब घोषित करती है तो भारतीय टीम को विश्व टेस्ट चैंपियनशिप अंक गवांने पड़ेंगे। यह काफी मुश्किल नजर आता है कि आईसीसी अहमदाबाद की पिच को खराब घोषित करेगी। अगर आईसीसी ऐसा कदम उठाती है तो भारत को नुकसान उठाना पड़ेगा। पिच को खराब बताए जाने पर वेन्यू को तीन डिमेरिट प्वॉइंट दिए जा सकते हैं। इसका होम टीम पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा। विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के नियमों के अनुसार अगर किसी मैच को खराब पिच या बुरी कंडिशंस की वजह से बीच में ही रोक दिया जाता तो उस स्थिति में मेजबान टीम पर एक्शन लिया जाता है।

यह भी पढ़ेः-ऑफ स्पिनर भज्जी को याद आई अपनी एतिहासिक हैट्रिक बताया शानदार टर्निंग पॉइंट

विश्व टेस्ट चैंपियनशिप प्लेइंग कंडिशंस के हिसाब से अगर एक मैच को किसी कारण से बीच में ही खत्म कर दिया जाता है और पिच और आउटफील्ड को अनफिट करार दिया जाता है तो ऐसी स्थिति में आईसीसी पिच और आउटफील्ड मॉनिटरिंग प्रोसेस के मुताबिक उस मैच के प्वॉइंट का बटवारा मेहमान टीम की जीत और मेजबान टीम की हार पर निर्भर करता है। ऐसा भी होता है कि आंकड़ों के उद्देश्य से बीच में खत्म हुआ है तो मैच को ड्रॉ माना जाता है।

तीसरे टेस्ट के मामले में मैच पूरा हो चुका है और ऐसी स्थिति में किसी भी तरह से भारतीय टीम को पिच के लिए दंडित नहीं किया जा सकता है। टीम इंडिया को विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंचने के लिए इंग्लैंड के खिलाफ होने वाले चैथे टेस्ट में जीत दर्ज करनी होगी या मैच को ड्रॉ करवाना होगा। अगर टीम ऐसा करने में सफल रहती है तो भारत का स्थान फाइनल में पक्का हो जाएगा और वह लॉर्ड्स के मैदान पर न्यूजीलैंड से खेलेगी।

यह भी पढ़ेः-आईसीसी से शिकायत को लेकर इंग्लैंड के हेड कोच सिल्वरवुड ने कही ये बात