Categories
खेल

कोहली ने प्रेसवार्ता में बताई कप्तानी विवाद की पैंतरेबाजी, गांगुली के दावे की ऐसे खोली पोल

दिल्ली। विराट कोहली की प्रेसवार्ता के बाद टीम इंडिया का कप्तानी विवाद और तल्ख हो गया है। साउथ अफ्रीका रवाना होने से पहले टेस्ट टीम के कप्तान विराट कोहली ने बुधवार को प्रेसवार्ता की है, जिसमें उन्होंने कई तथ्यों को खुलासा किया हैं। विराट कोहली ने कहा कि टी-20 की कप्तानी छोड़ने पर किसी को कोई दिक्कत नहीं थी। मुझसे नहीं कहा गया कि आप कप्तानी ना छोड़ें। विराट का ये बयान बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली के उस बयान से बिल्कुल उलट है जिसमें उन्होंने दावा किया था कि उन्होंने खुद विराट से कप्तानी ना छोड़ने की अपील की थी। विराट कोहली ने प्रेसवार्ता के माध्यम से बीसीसीआई अध्यक्ष सौरभ गांगुली का जवाब दिया है।
विराट कोहली ने कहा कि ‘टी-20 कप्तानी को छोड़ने की बात मैंने सबसे पहले बीसीसीआई को बताया। उसको बहुत अच्छे तरह से रिसीव भी किया गया। मेरे इस निर्णय पर किसी को कोई परेशानी नहीं हुई। मुझे ये नहीं कहा गया कि आप टी-20 की कप्तानी मत छोड़िए। बल्कि उसकी तारीफ की गई थी। तब मैंने ये भी कहा था कि मैं वनडे-टेस्ट की कप्तानी करना चाहूंगा, अगर सेलेक्टर्स का कुछ और फैसला ना हो तो, मैंने ये ऑप्शन भी दिया था कि अगर उन्हें कुछ और लगता है तो वो उनका फैसला है।

 saurav virat

सौरभ गांगुली ने कही थी ये बात

कोहली के इस बयान से पूरी तरह अलग बीसीसीआई के अध्यक्ष सौरव गांगुली ने जब विराट कोहली को कप्तानी से हटाए जाने पर पहली प्रतिक्रिया दी थी। सौरभ ने कहा था कि हमने विराट कोहली से टी-20 की कप्तानी नहीं छोड़ने को कहा था। सौरव गांगुली ने एक इंटरव्यू में कहा था कि मैंने खुद विराट कोहली से बात कर कहा था कि वो टी-20 की कप्तानी ना छोड़ें। वर्कलोड की वजह से वो ऐसा करना चाहते थे, इसमें कुछ गलत नहीं है वो लंबे वक्त तक भारतीय टीम के सबसे बड़े प्लेयर रहे हैं। बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली ने इसी इंटरव्यू में कहा कि इसी के बाद बीसीसीआई और सेलेक्टर्स ने फैसला किया था कि व्हाइट बॉल क्रिकेट में एक ही कप्तान रहना चाहिए, इसी वजह से ये फैसला लिया गया।

 आप वनडे कप्तान नहीं हैं…

बुधवार को विराट कोहली ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में साफ किया कि कैसे उन्हें वनडे की कप्तानी से हटाए जाने का फैसला बताया गया। विराट कोहली ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि आठ दिसंबर को सेलेक्शन मीटिंग से डेढ़ घंटे पहले मुझे बुलाया गया था। टी-20 कप्तानी छोड़ने के बाद कप्तानी के विषय पर मेरी कोई बात नहीं हुई थी। मीटिंग में चीफ सेलेक्टर्स ने मेरे साथ टेस्ट टीम पर चर्चा की, जिसपर दोनों पक्षों में सहमति बनी। वीडियो कॉल खत्म होने से पहले मुझे कहा गया कि सेलेक्टर्स ने तय किया है कि अब आप वनडे कप्तान नहीं रहेंगे, जिसपर मैंने ओके कहा।
ज्ञात हो कि टी-20 वर्ल्डकप शुरू होने से पहले ही विराट कोहली ने ऐलान कर दिया था कि वह टी-20 की कप्तानी छोड़ देंगे। न्यूजीलैंड सीरीज में रोहित शर्मा को टी-20 की कमान सौंप दी गई. लेकिन साउथ अफ्रीका दौरे के लिए जब टेस्ट टीम का ऐलान हुआ, उसी के साथ विराट कोहली को वनडे कप्तान पद से हटाकर रोहित शर्मा को जिम्मा देने की बात कही गई।

यह भी पढ़ेंः-कप्तानी विवाद पर खेल मंत्री अनुराग ठाकुर की सख्त चेतावनी, खेल से बड़ा कोई नहीं