खेल रत्न पुरस्कार को लेकर बबीता फोगाट ने दिया यह सुझाव

36

नई दिल्ली। भारत में महान विभूतियों की कमी नहीं है। लेकिन देश के प्रमुख स्थानों, चौराहों और पुरस्कारों में जब अधिकत्तर एक ही नाम होंगे तो सवाल उठेगा ही। हाल के वर्षों में राजीव गांधी स्मारक, राजीव गांधी फाउंडेशन पर लगातार सवाल उठ रहे हैं। ऐसे में भारतीय पहलवान बबीता फोगाट ने राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार को देश के प्रतिष्ठित खिलाड़ी के नाम रखने का सुझाव दिया है। उन्होंने कहा है कि खेल से जुड़े पुरस्कार नेताओं के नाम की जगह खेल से जुड़े महान व सम्मानित खिलाड़ियों के नाम पर होने चाहिए। उन्होंने ​ट्वीट कर पूछा है कि राजीव गांधी खेल रत्न का नाम बदलकर किसी खिलाड़ी के नाम पर रखने के सुझाव पर आपकी क्या राय है।

इसे भी पढ़ें: हैकर्स के चंगुल में फंसी PM मोदी की वेबसाइट, अब सामने आया twitter का बयान

भारतीय पहलवान से जब इस मुद्दे पर बात की गई तो उन्होंने ने कहा कि खेल रत्न पुरस्कार का नाम पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के नाम पर रखा गया है। इसकी जगह यह पुरस्कार किसी खिलाड़ी के नाम पर होता तो ज्यादा बेहतर होता। उन्होंने कहा कि पुरस्कार अगर देश के महान व सम्मानित खिलाड़ियों के नाम पर होगा तो पुरस्कार लेते वक्त खिलाड़ी और भी गौरवांवित महसूस करेंगे। खेल रत्न पुरस्कार देश का सर्वोच्च खेल सम्मान है, जिसे किसी खिलाड़ी की जगह पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के नाम पर रखा गया है। जो किसी भी लिहाज से उपयुक्त नहीं बैठता।

गौरतलब है कि हरियाणा पुलिस में इंस्पेक्टर के पद पर होते हुए खेल कोटे से डीएसपी का पद मांगने वाली पहलवान बबीता फोगाट को अब सरकार की तरफ से खेल उपनिदेशक बनाया गया है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने खिलाड़ियों को उचित सम्मान दिया। इसी कड़ी में मुख्यमंत्री की तरफ से खिलाड़ियों की भावनाओं को समझते हुए उन्हें उपनिदेशक बनाया गया है। उन्होंने भरोस दिलाते हुए कहा कि खेल नीति में बदलाव लाना हो या फिर खिलाड़ियों की समस्याओं का समाधान निकलवाना हो वह अपने स्तर पर हमेशा साथ खड़ी मिलेंगी।

इसे भी पढ़ें: फिर उगला ड्रैगन ने भारत के खिलाफ जहर, 1962 की याद दिलाते हुए कह दी ये बात