भारत और बांग्लादेश मिल कर बंगबंधु को देंगे अविस्मरणीय श्रद्धांजलि

bang bandhu

पणजी। कला और सौन्दर्य के लिए देश की सीमा भी छोटी पड़ जाती है। कलाकार हमेशा विरासत को सम्भाले रहते हैं। भारत और बांग्लादेश की विरासतों पर फिल्म जगत की नजर पड़ गयी है। भारत और बांग्लादेश की जुगलबंदी फिल्म निर्माण के क्षेत्र में जल्द देखने को मिलेगी। सयुक्त फिल्म के निर्माण का ऐलान इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल ऑफ इंडिया में केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावडेकर ने किया है। बांग्लादेश के संस्थापक और पहले राष्ट्रपति शेख मुजीबुर रहमान पर दोनों देशों ने मिलकर फिल्म बनाने का फैसला किया है। बांग्लादेश के संस्थापक और प्रथम राष्ट्रपति शेख मुजीब उर रहमान पर भारत और बांग्लादेश मिलकर बेहतरीन फिल्म बनायेंगे। शेख मुजीब-उर-रहमन की सौवीं जयंती के मौके पर उन्हें श्रद्धांजलि इस फिल्म के माध्यम से ही दी जाएगी। दोनों देश मिलकर बंगबंधु फिल्म बनायेंगे जिसके लिए शूटिंग जल्द ही शुरू हो जाएगी।

यह भी पढ़ेंः-विद्याा की नटखट सामाजिक ताना-बाना के साथ आस्कर में हुई शामिल
शेख मुजीबुर रहमान को बांग्लादेश का संस्थापक माना जाता है। उन्होंने बांग्लादेश के लिए सबसे बड़ा बलिदान दिया। शेख मुजीबुर रहमान ने ही पाकिस्तान के खिलाफ सशस्त्र संघर्ष का नेतृत्व करते हुए बांग्लादेश की स्थापना का रास्ता तैयार किया था। 17 मार्च 1920 को जन्मे शेख मुजीब-उर रहमान बांग्लादेश के पहले राष्ट्रपति बने और बाद में प्रधानमंत्री भी हुए। उन्हें बांग्लादेश की जनता ने बंगबंधु की उपाधि से नवाजा। दुनिया में षेख मुजीब उर रहमान को आदर से बंगबंधु ही बुलाते हैं।

बांग्लादेश की मुक्ति के तीन साल के अंदर ही 15 अगस्त 1975 को सैन्य तख्तापलट के दौरान शेख मुजीबुर रहमान की हत्या कर दी गई थी। शेख मुजीब-उर रहमान को भारत में हमेशा से सम्मान मिलता रहा है। पिछली साल 17 मार्च को वर्चुअल माध्यम से आयोजित बंगबंधु शेख मुजीबुर-रहमान शताब्दी समारोह में बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी हिस्सा लिया था। माना जा रहा है कि फिल्म निर्माण के क्षेत्र में आपसी सहयोग से दोनों देशों के संबंध और मजबूत होंगे। दोनों देषों के संयुक्त फिल्म निर्माण से साझी विरासत को बल मिलेगा। भारत और बांग्लादेश की संस्कृति-सभ्यता एक ही है।

यह भी पढ़ेंः-जब अमिताभ बच्चन ने दो तस्वीरों को शेयर किया तो दिखा जीवन के विविध रंग