Thursday, January 21, 2021
Home खेल भारतीय खिलाड़ियों पर हेल्थ मिनिस्टर ने कोरोना प्रोटोकाल को लेकर की विवादित...

भारतीय खिलाड़ियों पर हेल्थ मिनिस्टर ने कोरोना प्रोटोकाल को लेकर की विवादित टिप्प्णी

दिल्ली। पांच भारतीय क्रिकेटरों का रेस्त्ररां में जाना औरा कोरोना प्रोटोकाल का कथित उल्लंघन मामला ही बढ़ता जा रहा है। विराट कोहली और हार्दिक की तस्वीरें भी वायरल हुईं थी। दोनों को एक दूकान पर बिना मास्क लगाये देखा गया था। प्रोटोकाल को लेकर ऑस्ट्रेलिया मीडिया में नाराजगी देखी जा रही है। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच चार मैचों की टेस्ट सीरीज का तीसरा मुकाबला सिडनी में खेला जाना है। नए साल के मौके पर रोहित शर्मा, ऋषभ पंत, शुभमन गिल, पृथ्वी शॉ और नवदीप सैनी मेलबर्न के एक रेस्तरां में खाना खाने गए थे। इस दौरान पंत द्वारा एक फैन्स को गले लगाने के आरोप में बड़ा विवाद खड़ा हो गया, जिसके बाद क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने एतिहायत के तौर पर सभी खिलाड़यों को क्वारंटाइन कर दिया है। इस समय यह जांच चल रही है कि इन सभी खिलाड़ियों ने कोविड-19 प्रोटोकॉल का उल्लंघन किया है या नहीं। इस बीच ऑस्ट्रेलियाई मीडिया ने एक ट्वीट के जरिए याद दिलाया है कि टीम इंडिया के खिलाड़ी पहले भी ऐसी गलती कर चुके हैं। ऑस्ट्रेलिया के ब्रॉडकास्टर्स फॉक्स क्रिकेट की ओर से एक ट्विटर पर एक फोटो शेयर की गई है। तस्वीर के द्वारा यह बताने की कोशिश की जा रही है कि भारतीय खिलाड़ी पहले भी कोरोना नियमों की धज्जियां उड़ा चुके हैं।

यह भी पढेंः-रहाणे की शतक के साथ फंस गये कंगारू, कोहली ने कहा शानदार

ज्ञात हो कि पिछले महीने 7 दिसंबर को भारत के कप्तान विराट कोहली और हार्दिक पांड्या के साथ सिडनी में एक दुकान पर शॉपिंग करने के लिए गए थे। दुकान के कर्मचारियों को विराट और हार्दिक के साथ तस्वीरें लेते हुए देखा गया था। दोनों भारत लौट आये हैं। इस दौरान दोनों दोनों की तस्वीरें सोशल मीडिया पर भी काफी वायरल हुई थीं। इसके बाद द सिडनी मॉर्निंग हेराल्ड और द एज जैसे ऑस्ट्रेलियाई मीडिया के हवाले से लिखा गया कि मेहमानों ने प्रोटोकॉल का उल्लंघन किया है और दोनों विराट और हार्दिक को मास्क लगाना चाहिए था। बाद में कोहली और हार्दिक दोनों भारत लौट आए थे। जहां विराट कोहली पैटरनिटी लीव के बाद भारत वापस लौटे थे। वहीं हार्दिक पांड्या टेस्ट सीरीज का हिस्सा न होने की वजह से स्वदेश लौटे थे।

टीम इंडिया के एक अधिकारी ने बताया कि अगर आप देखें तो टीम ऑस्ट्रेलिया आने से पहले दुबई में 14 दिन तक क्वारंटाइन में रही और यहां पहुंचने के बाद भी 14 दिनों के क्वारंटाइन पीरियड को पूरा किया। इसका मतलब है कि टीम करीब एक महीने तक कोविड-19 प्रोटोकॉल में रही। अब टीम दौरे के अंत में क्वारंटाइन में नहीं रहना चाहती है। भारतीय खिलाड़ी बार-बार आइसोलेषन में रहते-रहते उब चुके हैं। अधिकारी ने बताया कि टीम ने क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया और विभिन्न राज्य सरकारों के प्रोटोकॉल का पूरी तरह पालन किया और उनके साथ हरसंभव सहयोग किया। अब टीम किसी भी प्रकार के प्रतिबंध में नहीं रहना चाहती और ऐसा होने पर वह आखिरी के दो टेस्ट एक ही जगह पर खेलने के लिए तैयार है। भारतीय टीम एक ही स्थान पर दोनों मैच खेलना चाहती है।

क्वींसलैंड सरकार ने रविवार सुबह विवादित बयान देते हुए कहा कि अगर टीम इंडिया नियमों के मुताबिक नहीं खेलना चाहती है तो उनको यहां आने की जरूरत नहीं है। राज्य की हेल्थ मिनिस्टर रोस बेट्स ने ऑस्ट्रेलिया के एक चैनल से बात करते हुए कहा कि अगर इंडियंस नियमों के अनुसार नहीं खेलने चाहते हैं तो मत आएं। इसके बाद क्वींसलैंड के स्पोट्र्स मिनिस्टर टिम मेंडर ने भी बेट्स की बात पर हामी भरते हुए कहा कि अगर इंडियन क्रिकेट टीम क्वांरटाइन के नियम और गाइडलाइंस को फॉलो नहीं करना चाहती है तो उनको यहां नहीं आना चाहिए। एक जैसे रूल्स लागू होंगे सभी पर।

यह भी पढेंः-लॉकडाउन में बढ़ गई कंडोम, रोलिंग पेपर की खपत, दिन में अधिक हुई खरीदारी

Most Popular