गावस्कर ने वनडे फॉर्मेट में एटिट्यूड और सेलेक्शन पर उठाये सवाल, ये है टीम इंडिया की कमजोरी

0
50
Sunul gavsker

नई दिल्ली। पहले एकदिवसीय में दक्षिण अफ्रीका टीम से हार के बाद टीम इंडिया निशाने पर आ गयी है। एकदिवसीय फॉर्मेट में एटिट्यूड और टीम सेलेक्शन को लेकर लगातार सवाल खड़े हो रहे हैं। साल 2021 में सिर्फ 6 वनडे खेलने वाली टीम इंडिया को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पार्ल में पहले वनडे में 31 रनों से हार का सामना करना पड़ा। भारतीय टीम के पूर्व सलामी बल्लेबाज सुनील गावस्कर ने टीम इंडिया की एकदिवसीय फॉर्मेट में सबसे बड़ी कमजोरी को उजागर किया है।

टीम इंडिया में ऑलराउंडरों की कमी

1983 विश्व कप विजेता टीम के सदस्य सुनील गावस्कर ने 1983, 2011 विश्व कप विजेता टीम और मौजूदा टीम के बीच में तुलना किया है। सुनील गावस्कर के कहा कि वर्तमान टीम इंडिया में ऑलराउंडरों की भारी कमी है। ऑलराउंडर टीम को प्रत्येक स्थिति में मजबूती देते हैं। गावस्कर ने कहा कि वर्तमान भारतीय टीम का बड़े टूर्नामेंट्स में फेल होने का एक बड़ा कारण टीम में ऑलराउडरों की कमी है। ऑलराउंडर नहीं रहेंगे तो टीम का संतुलन ठीक नहीं होगा। अगर आप 1983 विश्व कप विजेता टीम और 2011 विश्व कप विजेता टीम या 1985 की विश्व चैम्पियनशिप को देखें तो उस टीम में ऑलराउंडरों की भरमार थी।

टीम में ऑलराउंडर गेंदबाजी और बल्लेबाजी दोनों स्थितियों को सम्भालता है। टीम इंडिया में ऑलराउंडर खिलाड़ियों की कमी है, जो बल्लेबाजी के साथ कुछ ओवर गेंदबाजी कर सकते हों और बल्ले से निचले क्रम में टीम के लिए कुछ अहम रन जोड़ सके। शार्दुल ठाकुर के अलावा टीम में अभी ऐसा कोई दूसरा खिलाड़ी नजर नहीं आता है जो ऑलराउंडर का दावेदार हो।

नंबर 6,7, 8 पर ऐसे खिलाड़ी चाहिए, जो…

सुनील गावस्कर ने कहा कि वनडे क्रिकेट में नंबर 6,7 और 8 पर ऐसे खिलाड़ी चाहिए जो बल्ले और गेंद से अहम योगदान कर सकें। टीम को संकट की स्थिति से उबार सके। 2011 विश्व कप में युवराज सिंह और सुरेश रैना ने इस जिम्मेदारी को बखूबी निभाया था। इस पिछले 2-3 सालों में टीम इंडिया की यह सबसे बड़ी कमजोरी है। वनडे सीरीज में कप्तानी कर रहे केएल राहुल ने वेंकटेश अय्यर को छठे गेंदबाज के रूप में इस्तेमाल करने की योजना बनाई थी। पहले एकदिवसीय में अय्यर के गेंदबाजी न करने से राहुल की रणनीति पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं। भारतीय टीम शुक्रवार को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ दूसरे वनडे में सीरीज में बराबरी करना चाहेगी।

ये भी पढ़ेंःTEAM INDIA में कुछ-कुछ होता है, KOHLI ने एकदिवसीय से नाम लिया वापस तो TEST से रोहित ऐसे हुए बाहर