साउथ अफ्रीका में मिली करारी हार पर द्रविड़ नाराज, खिलाड़ियों को याद दिला दिया प्रदर्शन

0
74
Rahul dravid

नई दिल्ली। साउथ अफ्रीका में मिली करारी हार के बाद कोच राहुल द्रविड़ की नाराजगी बढ़ गयी है। उन्होंने खिलाड़ियों को एक बार फिर बड़ा परफॉर्मेंस करने की याद दिला दी है। टेस्ट सीरीज हारने के बाद वनडे सीरीज में सूपड़ा साफ होने के बाद राहुल द्रविड़ ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। उन्होंने कहा कि खिलाड़ियों को टीम में जगह मिलने की सुरक्षा दी जाएगी लेकिन एक बार जब आपको वो मिल जाए तो आपसे बड़ी परफॉर्मेंस की उम्मीद रहती है। टीम के खिलाड़ी विश्व स्तर पर प्रदर्शन करना ही होगा।
कोच राहुल द्रविड़ ने कहा कि हम हमेशा खिलाड़ियों को टीम में जगह सुरक्षित होने का भरोसा देना चाहते हैं। खिलाड़ी को लगातार मौका मिल सके लेकिन जब आपको ये चीजें मिलती हैं तब खिलाड़ियों से बड़ी परफॉर्मेंस की उम्मीद भी जाएगी। उन्होंने कहा कि अगर आपको इस लेवल पर खेलना है तो इसे पूरा करना होगा। भारतीय टीम में होने का मतलब सिर्फ प्रदर्शन ही होगा। जब आप अपने देश के लिए खेलते हो तो बड़ी परफॉर्मेंस देकर नतीजे देने होते हैं।

पहले ही विदेशी दौरे पर द्रविड़ को मिली हार

ज्ञात हो कि भारतीय टीम इस बार बड़ी उम्मीदों के साथ साउथ अफ्रीका पहुंची थी। उसे टेस्ट सीरीज में 1-2 और फिर वनडे सीरीज में 0-3 से हार का सामना करना पड़ा है। टीम इंडिया का पूर्ण रूप से कोच बनने के बाद राहुल द्रविड़ का यह पहला विदेशी दौरा था। पहले विदेशी दौरे में टीम इंडिया टेस्ट और एकदिवसीय सीरीज हार गयी।

राहुल द्रविड़ ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में श्रेयस अय्यर का भी जिक्र किया। राहुल द्रविड़ ने कहा कि आप अगर 4, 5 या 6 नंबर पर बैटिंग कर रहे होते हैं तो आपको टीम की जरूरत को देखना होता है। श्रेयस अय्यर तीनों मैच में सही समय पर पिच पर गये। श्रेयस के पास काफी वक्त था लेकिन वह आगे नहीं बढ़ पाये। टीम को जो जरूरत थी उसे पूरा नहीं कर पाये।

कोच राहुल द्रविड़ ने कहा कि हमें पता है कि कई खिलाड़ियों ने अच्छा प्रदर्शन किया है। हम उनका पूरा सपोर्ट करते हैं लेकिन कभी-कभी कोई दौरा अच्छा निकलता है और कोई दौरा बुरा निकलता है। राहुल द्रविड़ ने भी माना कि वनडे सीरीज में जगह बनाने के लिए टीम में काफी कॉम्पटीशन चल रहा है, ऐसे में हालात बिल्कुल ठीक नहीं हैं। टीम को सीरीज हार जाना ठीक नहीं है।

मिडिल ऑर्डर ने करवा दिया बेड़ा गर्क

साउथ अफ्रीका के खिलाफ वनडे सीरीज में टीम इंडिया का प्रदर्शन बहुत ही खराब रहा है। बल्लेबाजी में मिडिल ऑर्डर ने टीम की साख को धब्बा लगा दिया। श्रेयस अय्यर, ऋषभ पंत, वेंकटेश अय्यर को मौके मिले लेकिन कोई भी उन्हें सही तरीके से भुना नहीं पाया। ऋषभ पंत जिन्हें भविष्य के कप्तान के तौर पर देखा जा रहा है, वह सीरीज में दो बार लापरवाही वाला शॉट खेलकर आउट हो गये। सीरीज के आखिरी मैच में तो ऋषभ पंत पहली बॉल पर ही गैर-जरूरी शॉट खेलकर आउट हुए और पूरी टीम को संकट में डालकर चले गये। जहां टीम के लिए टिक कर खेलना था, वहीं पर वह लापरवाही कर गये।

ये भी पढ़ेंःसाउथ अफ्रीका के इस दिग्गज ने किया दावा, MS Dhoni हैं सबसे अधिक प्रभावशाली कप्तान