Categories
खेल

सेंचुरियन का कमाल एक दिन में गिरे 18 विकेट, अब बड़ा स्कोर बनाना चाहेगा कोहली ब्रिगेड

सेंचुरियन। साउथ अफ्रीका के सेंचुरियन में खेले जा रहे पहले टेस्ट के तीसरे दिन भारत टीम की स्थिति मजबूत हो गयी है। तीन दिन का मैच हो चुका है, जिसमें से एक दिन बारिश के कारण मैच नहीं खेला जा सका। टीम इंडिया के बॉलर्स ने कमाल किया और तीसरे दिन ही पूरी साउथ अफ्रीकी टीम को ऑलआउट कर दिया। मैच का तीसरा दिन इसलिए भी स्पेशल रहा कि एक ही दिन में दोनों टीमों के कुल 18 विकेट गिरे हैं। ऐसे में अब मैच पूरी तरह से दोनों टीमों के खेल, हौसले और प्रदर्शन पर निर्भर है। जब सेंचुरियन टेस्ट का दूसरा दिन बारिश की वजह से धुल गया था और मौसम आगे भी मौसम आगे भी स्थिति में था तब नतीजे को लेकर कई तरह के सवाल खड़े हो रहे थे। मैच का तीसरा दिन गेंदबाजों के नाम रहा। हालांकि भारतीय टीम का प्रदर्शन उम्मीद के मुताबिक नहीं रह पाया लेकिन गेंदबाजों ने एक दिन में 18 विकेट लिये। टीम इंडिया ने 272-3 के स्कोर से पारी को आगे बढ़ाया, जिसके बाद सिर्फ 55 रन ही जोड़ पाई। तीसरे दिन भारतीय टीम की पारी 327 पर खत्म हो गयी। इसके बाद भारतीय टीम के बॉलर्स ने साउथ अफ्रीका को सिर्फ 197 रनों पर ऑलआउट कर दिया।

तीसरे दिन गिरे कुल विकेट

भारत- 7 विकेट (पहली पारी)
साउथ अफ्रीका- 10 विकेट (पहली पारी)
भारत- 1 विकेट (दूसरी पारी)

अगर किसी टेस्ट मैच में एक दिन में सबसे ज्यादा विकेट गिरने की का रिकॉर्ड ऑस्ट्रेलिया-इंग्लैंड के नाम है। जब 1888 में खेले गए एक टेस्ट में मैच के दूसरे दिन कुल 27 विकेट गिर गए थे। भारत-अफगानिस्तान के बीच 2018 में खेले गए टेस्ट मैच के दूसरे दिन कुल 24 विकेट गिरे थे। भारत के पास अब करीब 150 रनों की बढ़त है और अभी मैच में दो दिन का खेल बाकी है। ऐसे में टीम इंडिया की कोशिश यही रहेगी कि चैथे दिन भरपूर बैटिंग की जाए और बढ़त को 400 के पार पहुंचाया जाये। मैच जीतने के लिए ऐसा करना जरूरी है और दक्षिण अफ्रीका टीम पर दबाव बनाना होगा। अगर टीम इंडिया चैथे दिन बल्लेबाजी कर लेती है, तब बॉलर्स के पास आखिरी दिन बचेगा। जहां वो साउथ अफ्रीका की टीम को ऑलआउट कर सकते हैं। खास बात ये भी है कि दोनों ही दिन 98-98 ओवर फेंके जाने हैं। ऐसे में टीमों को एक्स्ट्रा टाइम भी मिल पाएगा।

अभी तक मैच

भारत ने टॉस जीतकर सेंचुरियन में पहले बल्लेबाजी का फैसला लिया था। केएल राहुल और मयंक अग्रवाल की जोड़ी ने टीम को शानदार शुरुआत दिलवाई। केएल राहुल ने यहां अपना शतक भी पूरा किया। भारतीय टीम की शुरुआत शानदार रही लेकिन मिडिल ऑर्डर पूरी तरह से फेल हो गया। टीम का स्कोर 272-3 से 327-10 हो गया। भारतीय टीम ने जब बॉलिंग शुरू की, तब तेज गेंदबाजों ने एक बार फिर अपना जादू बिखेरा। मोहम्मद शमी ने पारी में पांच विकेट लिए और टेस्ट कॅरिअर में 200 विकेट भी पूरे किये। मोहम्मद शमी के अलावा जसप्रीत बुमराह, शार्दुल ठाकुर को दो-दो विकेट मिले. मैच में जसप्रीत बुमराह को चोट भी लगी थी, लेकिन कुछ देर बाहर रहने के बाद उन्होंने वापसी की।

यह भी पढ़ेंः-सेंचुरियन में राहुल ने लगाया शतक, टीम इंडिया ने ऐसे की मजबूत शुरूआत