satish kumar boxer

टोक्यो /दिल्ली। भारतीय मुक्केबाज सतीश कुमार टोक्यो ओलंपिक 2020 में मेडल पाने दौड़ में हैं। सतीश रविवार को 91 किग्रा वर्ग क्वार्टर फाइनल मुकाबला में भाग लेंगे। सतीश अगर यह मैच जीत जाते हैं तो वह सेमीफाइनल में पहुंच जाएंगे। सतीश के सेमीफाइनल में पहुंचते ही भारत के लिए एक और मेडल पक्का कर लेंगे। मुकाबले से पहले सतीश कुमार को 7 टांके लगे हैं। उन्हें गहरी चोट लगी है। जमैका के रिकार्डो ब्राउन के खिलाफ प्री-क्वार्टर मैच में सतीश को ठुड्डी और दाहिनी आंख पर गहरा कट लग गया था। बॉक्सिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया के अध्यक्ष अजय सिंह ने कहा कि मैं शनिवार को सतीश से मिला। उन्होंने बताया कि डॉक्टर अगर उन्हें इजाजत देते हैं तो वह रिंग में उतरेंगे और मैच खेलेंगे। सतीश का क्वार्टर फाइनल में सामना उजबेकिस्तान के बखोदिर जालोलोव से होगा जो मौजूदा विश्व और एशियाई चैम्पियन हैं। ज्ञात हो कि इससे पहले जालोलोव ने अजरबैजान के मोहम्मद अब्दुल्लायेव को 5-0 से हराया है।

सतीश इस मुकाबले में भी भारी पड़ते हैं तो उनका पदक सुनिश्चित हो जाएगा। अभी तक सतीश के स्वस्थ होने और खेलने की स्थिति उनकी चोट और डाॅक्टर की रिपोर्ट पर बनी हुई है। ज्ञात हो कि पांच पुरुष भारतीय मुक्केबाजों ने टोक्यो ओलंपिक 2020 के खेलों का टिकट हासिल किया था। सतीश को छोड़कर, सभी मुक्केबाज पहले दौर में बाहर हो गये। स्टार मुक्केबाज अमित पंघल भी 52 किग्रा के क्वार्टर फाइनल में पहुंचने में नाकाम रहे। सतीश के अलावा सभी पुरूष मुक्केबाजों ने आशा के अनुरूप प्रदर्शन नहीं किया।

लवलीना ने पक्का किया मेडल
पुरुष मुक्केबाजों के मुकाबले महिला मुक्केबाजों ने इस ओलंपिक में अच्छा प्रदर्शन किया है। महिलाओं ने उम्मीद से बेहतर प्रदर्शन किया है। अपना पहला ओलंपिक खेल रहीं लवलीना बोरगोहेन 69 किग्रा भार वर्ग के सेमीफाइनल में पहुंच चुकी हैं। अभी तक माना जा रहा है कि लवलीना ने देश के लिए एक मेडल तो पक्का कर लिया है। लवलीना के अलावा पूजा रानी ने क्वार्टर फाइनल तक षानदार सफर तय किया। पूजा ने प्री-क्वार्टर का फाइनल का मुकाबला जीतकर मेडल की उम्मीद को बढ़ा दिया था लेकिन वह अंतिम-8 के मुकाबले में चीन की लि कियान से 0-5 से हार गईं।

यह भी पढ़ेंः-लकड़ियां बीनने वाली चानू को नहीं भाया तीरंदाजी, अब टोक्यो में बनाया शानदार इतिहास