BCCI बनाम कोहली बना कप्तानी विवाद, विराट की प्रेसवार्ता पर बोर्ड का आया ऐसा जवाब

सौरभ गांगुली के बयान के बाद विराट कोहली ने अपना पक्ष रखा है। विराट कोहली के तथ्यों के सामाने सौरभ गांगुली के बयान खारिज हो जाते हैं।

0
710
saurav virat

दिल्ली। भारतीय क्रिकेट टीम में और BCCI और कप्तान को लेकर विवाद बढ़ता ही जा रहा है। बुधवार दोपहर को विराट कोहली ने प्रेसवार्ता कर एकदिवसीय कप्तानी से हटाये जाने के तथ्यों केा बताया है। वनडे कप्तानी से हटाए जाने के बाद विराट कोहली ने बयान दिया कि वह वनडे कप्तानी नहीं छोड़ना चाहते थे। साथ ही टी-20 कप्तानी को लेकर भी विराट ने अपना पक्ष रखा। विराट कोहली के बयान पर मचे घमासान पर अब BCCI का जवाब आया है। BCCI ने कहा है कि विराट कोहली ऐसा नहीं कह सकते हैं कि उन्हें कप्तानी से हटाने की जानकारी नहीं दी गई थी। हमने विराट कोहली से सितंबर में बात की थी और उन्हें टी-20 कप्तानी नहीं छोड़ने को कहा था।

saurav virat

बीसीसीआई की ओर से कहा गया कि विराट कोहली ने जब टी-20 कप्तानी खुद ही छोड़ दी, तब व्हाइट बॉल क्रिकेट में दो कप्तान रखना आसान नहीं था। साथ ही विराट कोहली को जब वनडे की कप्तानी से हटाया गया, उस सब खुद चीफ सेलेक्टर चेतन शर्मा ने विराट को फोन कर जानकारी दी थी। रोहित शर्मा को एकदिवसीय का कप्तान बनाये जाने के बाद विराट से सम्मानपूर्वक कप्तानी नहीं ली गयी। उन्हें कप्तानी से हटाये जाने का लेकर दुःख है। कप्तानी से हटाये जाने को लेकर BCCI अध्यक्ष ने भी विराट कोहली को लेकर पक्ष रखा है।

सौरभ गांगुली ने कहा है कि विराट को इसकी जानकारी दे दी गयी थी। वह स्वयं टी-20 से हटना चाहते थे। उन्हें टी-20 की कप्तानी नहीं छोड़ने की सलाह दी थी। सौरभ गांगुली के बयान के बाद विराट कोहली ने अपना पक्ष रखा है। विराट कोहली के तथ्यों के सामाने सौरभ गांगुली के बयान खारिज हो जाते हैं। वर्तमान में एक खिलाड़ी और खेल के बीच उठापटक शुरू हो गयी है। BCCI अध्यक्ष सौरभ गांगुली बनाम विराट कोहली की स्थिति पैदा हो गयी है।

यह भी पढ़ेंः-कोहली ने प्रेसवार्ता में बताई कप्तानी विवाद की पैंतरेबाजी, गांगुली के दावे की ऐसे खोली पोल