Friday, December 3, 2021

AUS बना T-20 वर्ल्डकप का नया चैम्पियन, इस खिलाड़ी ने तोड़ दिया न्यूजीलैंड का सपना

Must read

- Advertisement -

दुबई। आईसीसी T-20 वर्ल्डकप का नया विजेजा ऑस्ट्रेलिया बन गया है। फाइनल मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया ने न्यूजीलैंड को हराकर इतिहास रच दिया है। एरॉन फिंच की अगुवाई वाली यह टीम पहली ऐसी ऑस्ट्रेलिया टीम बनी है, जिसने T-20 वर्ल्डकप जीता हो। न्यूजीलैंड ने इस मैच में पहले बल्लेबाजी करते हुए 172 रन बना कर बढ़िया लक्ष्य दिया। फाइनल मुकाबले के हिसाब से ये एक बढ़िया स्कोर था लेकिन ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों ने शानदार बल्लेबाजी की। ऑस्ट्रेलिया के मिचेल मार्श ने तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए ऐसा कमाल किया कि न्यूजीलैंड का खिताब जीतने का सपना सिर्फ सपना ही रह गया। उन्होंने न्यूजीलैंड से खिताब छिन लिया। मिचेल मार्श ने कुल 77 रनों की नाबाद पारी खेली और अपनी टीम को चैम्पियन बना दिया।

आते ही जता दिए थे अपने इरादे

- Advertisement -

कप्तान एरॉन फिंच का विकेट जल्दी गिरने के बाद मिचेल मार्श क्रीज पर आये। उन्होंने आते ही अपने इरादे जता दिए थे क्योंकि पहली ही बॉल पर छक्का जड़ा था। मिचेल मार्श ने पारी में अपनी पहली बॉल पर छक्का, दूसरी और तीसरी बॉल पर चैके लगाये थे। डेविड वॉर्नर के साथ मिलकर मिचेल मार्श ने न्यूजीलैंड के सपने को चकनाचूर किया। उन्होंने लम्बी साझेदारी की। फाइनल मुकाबले में मिचेल मार्श ने 50 बॉल में 77 रनों की पारी खेली। इस दौरान उन्होंने 6 चौके , 4 छक्के जड़े और 154 के स्ट्राइक रेट से रन बनाए। मिचेल मार्श को इस पारी के लिए प्लेयर ऑफ द मैच चुना गया। उन्होंने शानदार प्रदर्शन कियां

Michel march

फास्ट बॉलिंग वाला ऑलराउंडर जो तीसरे नंबर पर खेला

मिचेल मार्श ने इस टी-20 वर्ल्डकप में दो पचासे भी लगाये हैं। दोनों ही मैच को बदलने वाली पारी थी। न्यूजीलैंड के खिलाफ 77 रन नाबाद से पहले उन्होंने वेस्टइंडीज के खिलाफ भी 53 रनों की पारी खेली थी। इस टी-20 वर्ल्ड कप में मिचेल मार्श ने 77, 28, 53, 16, 11 रनों का पारियां खेली है। उन्होंने पूरी प्रतियोगिता में बेहतरीन प्रदर्शन किया है। ऑस्ट्रेलिया की बहुचर्चित मार्श फैमिली का हिस्सा मिचेल मार्श ने अपने कॅरिअर की शुरुआत बतौर निचले क्रम के बल्लेबाज के तौर पर की थी, जो 140 किलोमीटर की रफ्तार से बॉल भी डाल सकता था। उन्होंने अपने कॅरिअर में कई उतार-चढ़ाव देखे, लेकिन 2019 के बाद उन्होंने टीम में वापसी की। T-20 फॉर्मेट में बड़ी हिटिंग के दम पर अपनी जगह बनाई। यही वजह रही कि मिचेल मार्श को तीसरे नंबर के लिए तैयार किया गया, ताकि ऑस्ट्रेलिया को ओपनिंग जोड़ी के बाद भी एक हार्ड हिटिंग बैटर मिल सके। मिचेल मार्श ने सबसे बड़े मंच पर अपना खेल दिखाया।

आठ विकेट से जीत

ऑस्ट्रेलिया ने न्यूजीलैंड को आठ विकेट से हराकर T-20 वर्ल्ड कप 2021 का खिताब अपने नाम कर लिया है। रविवार को दुबई में खेले गए फाइनल मुकाबले में कंगारू टीम ने सात गेंद बाकी रहते लक्ष्य तक पहुंच गई। लक्ष्य का पीछा करते हुए ऑस्ट्रेलिया की शुरुआत खराब रही और उसने पहला विकेट जल्द खो दिया। तीसरे ओवर की तीसरी गेंद पर कप्तान एरॉन फिंच को ट्रेंट बोल्ट ने डेरिल मिचेल के हाथों कैच आउट करा दिया। फिंच सात गेंदों का सामना करते हुए महज पांच रन बना सके। फिंच के आउट होने के बाद डेविड वॉर्नर और मैन ऑफ द मैच मिचेल मार्श ने काउंटर अटैक करना शुरू कर दिया। दोनों खिलाड़ियों ने 59 गेंदों पर ताबड़तोड़ 92 रनों की साझेदारी की। इस दौरान वॉर्नर ने 34 गेंदों पर 4 चौके और एक छक्के की बदौलत अपना अर्धशतक पूरा कर लिया। 13वें ओवर की दूसरी गेंद पर वॉर्नर को ट्रेंट बोल्ट ने बेहतरीन गेंद पर बोल्ड कर न्यूजीलैंड की थोड़ी सी उम्मीदें जगाईं। वॉर्नर ने 38 गेंदों पर 53 रनों की पारी खेली।

मैक्सवेल-मार्श ने जीत तक पहुंचाया

वॉर्नर के आउट होने के बाद मिचेल मार्श ने भी 31 बॉल पर तीन चैके और चार छक्के की बदौलत अपना अर्धशतक पूरा किया। यह मार्श के टी-20 इंटरनेशनल करियर का छठा अर्धशतक रहा. मार्श ने इस दौरान ग्लेन मैक्सवेल के साथ 66 रनों की अविजित साझेदारी की। ऑस्ट्रेलिया ने 18.5 ओवरों में दो विकेट खोकर मैच जीत लिया। मार्श 50 गेंदों पर छह चैके और चार छक्के की मदद से 77 रन पर नॉटआउट रहे। मैक्सवेल ने 18 गेंदों पर 28 रनों की नाबाद पारी में चार चौके और एक छक्का लगाया।

यह भी पढ़ेंः-T-20 वर्ल्ड कप का फाइनल मुकाबला आज, सचिन ने की इस गेंदबाज की तारीफ

- Advertisement -

More articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article