Wednesday, January 20, 2021
Home खेल नस्ली टिप्पणी के बाद ऑस्ट्रेलियाई कोच को यह कहना पड़ा...

नस्ली टिप्पणी के बाद ऑस्ट्रेलियाई कोच को यह कहना पड़ा…

दिल्ली। भारत – ऑस्ट्रेलिया के बीच खेले जा रहे तीसरे टेस्ट मैच के दौरान नस्ली टिप्पणी की गर्मी बढ़ती जा रही है। ऑस्ट्रेलिया के मुख्य कोच जस्टिन लैंगर ने सिडनी तीसरे क्रिकेट टेस्ट के दौरान दर्शकों के भारतीय खिलाड़ियों पर नस्ली टिप्पणी करने को शर्मनाक करार दिया। दर्शकों इस टिप्पणी के बाद में सिडनी क्रिकेट मैदान से बाहर कर दिया गया। मेहमान टीम के तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज ने दर्शकों के एक समूह द्वारा नस्ली टिप्पणी की शिकायत की। नस्ली टिप्पणी की शिकायात के बाद चैथे दिन के दौरान कुछ देर खेल रुका रहा। बाद में कुछ दर्शकों को मैदान से बाहर कर दिया गया और मेजबान देश के क्रिकेट बोर्ड ने माफी मांगी। दिन का खेल खत्म होने के बाद इस मुद्दे पर लैंगर से कई सवाल पूछे गये। ऑस्ट्रेलिया के इस पूर्व सलामी बल्लेबाज ने इसके लिए शिक्षा पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि शिक्षा की कमी के कारण ऐसा हुआ है। स्वदेशी आदिवासियों को लेकर ऑस्ट्रेलिया के खराब इतिहास के संदर्भ में लैंगर ने कहा कि मैंने अभी-अभी ऑस्ट्रेलिया के इतिहास पर एक किताब पढ़ी है और पिछले कुछ महीनों में कुछ अच्छे वृत्तचित्र देखे हैं। यह दुखद है, हम स्वयं को शिक्षित कर रहे हैं और इससे आपको काफी दुख होता है कि लोगों को नस्लवाद का सामना करना पड़ रहा है। नस्लवाद की टिप्पणी पर लैंगर आहत हैं।

यह भी पढेंःमेलबर्न टेस्ट की हार के बाद टीम से कई की छुट्टी, बदल जाएगी ओपनिंग जोड़ी

उन्होंने कहा कि ऑस्ट्रेलिया के इतिहास में जो हुआ जब आप उसे लेकर शिक्षित होते हो तो आपको समझ में आता है कि आखिर क्यों यह इतना पीड़ादायक है। रविवार की इस घटना से एक दिन पहले एससीजी पर नशे में धुत्त एक दर्शक ने कथित तौर पर जसप्रीत बुमराह और सिराज पर नस्ली टिप्पणी की थी। टिप्पणी के बाद दोनों देशों के क्रिकेट बोर्ड का माहौल गर्म है। भारतीय क्रिकेट बोर्ड ने इसके बाद आईसीसी के पास शिकायत दर्ज कराई। मेहमान टीम के खिलाफ दो दिन में नस्लवाद की दो घटनाओं का प्रतिक्रिया देते हुए लैंगर ने कहा कि यह शर्मनाक है कि इतनी कड़ी टक्कर वाली सीरीज की छवि इस तरह की घटनाओं से खराब होती है।

उन्होंने कहा कि खेल को ऐसी गतिविधि खराब होती है। उन्होंने कहा कि माफी कीजिए, यह हताशा भरा और निराशाजनक है। लैंगर ने कहा कि मुझे इससे नफरत है कि लोग पैसे देकर क्रिकेट या किसी अन्य खेल को देखने आते हैं और सोचते हैं कि वे गालियों का इस्तेमाल या इस तरह की चीजें कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि मेरे कहने का मतलब है कि एक खिलाड़ी के रूप में मैं इससे नफरत करता था, एक कोच के रूप में इससे नफरत करता हूं, हमने दुनिया के विभिन्न हिस्सों में ऐसा देखा है और ऑस्ट्रेलिया में ऐसा होते हुए देखना दुखद है। उन्होंने बेहतर सीरीज और अच्छे खेल की कामना की है।

यह भी पढेंः-रहाणे की शतक के साथ फंस गये कंगारू, कोहली ने कहा शानदार

Most Popular