ऐतिहासिक जीत के बाद द्रविड़ ने दिये सख्त फैसले के संकेत, अब ऐसी होगी टीम इंडिया

मुख्य कोच राहुल द्रविड़ ने कहा कि आने वाले दिनों में टीम को नया रूप देने के लिए पुरजोर कोशिश करेंगे। इस दौरान बेहतर टीम संयोजन के लिए कड़े निर्णय लेने पड़ेंगे।

0
1851
Rahul dravid

मुम्बई। न्यूजीलैंड के खिलाफ मिली ऐतिहासिक जीत के बाद कोच राहुल द्रविड़ ने टीम को संख्त संदेश दिया है। मुख्य कोच राहुल द्रविड़ ने कहा कि आने वाले दिनों में टीम को नया रूप देने के लिए पुरजोर कोशिश करेंगे। इस दौरान बेहतर टीम संयोजन के लिए कड़े निर्णय लेने पड़ेंगे। खिलाड़ियों को कड़े फैसले के लिए तैयार रहना होगा। न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज जीत के बाद द्रविड़ ने कहा कि टीम प्रबंधन आगे कुछ कड़े फैसले लेने वाला है। उन्होंने खिलाड़ियों के साथ स्पष्ट संवाद पर भी जोर दिया। सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा को न्यूजीलैंड के खिलाफ पूरी टेस्ट सीरीज के लिए विश्राम दिया गया है। कप्तान विराट कोहली पहले टेस्ट मैच में नहीं खेले थे। रवि शास्त्री से कमान संभालने के बाद राहुल द्रविड़ की कोच के रूप में यह पहली टेस्ट सीरीज थी। इस सीरीज में जिसमें मयंक अग्रवाल और श्रेयस अय्यर ने एक-एक शतक लगाया है। बल्लेबाजों के लिए यह सीरीज अच्छी रही।

टीम सेलेक्शन में है कड़ी चुनौती

अजिंक्य रहाणे और चेतेश्वर पुजारा पर दक्षिण अफ्रीका दौरे से पहले टीम में अपनी जगह बचाए रखने का दबाव है। ऐसे में द्रविड़ की टिप्पणी महत्वपूर्ण मानी जा रही है। द्रविड़ ने दूसरे टेस्ट क्रिकेट में 372 रनों की रिकॉर्ड जीत के बाद कहा कि युवा खिलाड़ी अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं। प्रदर्शन के आधार पर ही चयन होगा। चयन को लेकर यह अच्छा सिरदर्द है। प्रत्येक अच्छा प्रदर्शन करना चाहता है और हर कोई एक- दूसरे के लिए कड़ी चुनौती पेश कर रहा है। इन चुनौतियों से अच्छी टीम मिलती है और अच्छी बेंच स्टेंथ तैयार रहती है।

उन्होंने कहा कि मुझे उम्मीद है कि हमारा यह सिरदर्द और बढ़ेगा और हमें कुछ कड़े फैसले लेने पड़ सकते हैं। राहुल द्रविड़ ने कहा कि जब तक हमारा स्पष्ट संवाद रहता है और हम खिलाड़ियों को समझाते हैं कि ऐसा क्यों हुआ तब तक कोई समस्या नहीं है। ज्ञात हो कि सीरीज में बाएं हाथ के स्पिनर अक्षर पटेल ने गेंद और बल्ले से अच्छा प्रदर्शन किया। उन्होंने पहले टेस्ट मैच की पहली पारी में पांच विकेट निकाले और दूसरे टेस्ट मैच की दूसरी पारी में आक्रामक अंदाज में बल्लेबाजी की। जयंत यादव ने दूसरे टेस्ट मैच में पांच विकेट लिए, जिसमें दूसरी पारी के चार विकेट शामिल हैं.

सीरीज जीत को एक तरफा कहना गलती

राहुल द्रविड़ ने कहा कि इस सीरीज जीत को एकतरफा कहना गलती होगी। उन्होंने कहा कि विजेता के रूप में सीरीज का अंत करना अच्छा है। कानपुर में भी हम जीत के करीब पहुंच गए थे, लेकिन आखिरी विकेट नहीं ले पाये। मुम्बई टेस्ट में टीम ने कड़ी मेहनत की। परिणाम भले ही एकतरफा लग रहा हो लेकिन पूरी सीरीज में हमने कड़ी मेहनत की। द्रविड़ ने कहा कि खिलाड़ी प्रत्येक मैच में सुधार करने के लिए बेताब हैं। उन्होंने कहा कि यह देखकर अच्छा लगा कि खिलाड़ी मौकों का फायदा उठाने के लिए तत्पर हैं। जयंत को रविवार को जूझना पड़ा था लेकिन उन्होंने उससे सबक लिया और सोमवार को अच्छा प्रदर्शन किया। द्रविड़ ने कहा कि ‘मयंक, श्रेयस, सिराज जिन्हें बहुत अधिक मौके नहीं मिले। अक्षर को गेंदबाजी के अलावा के बल्लेबाजी में अच्छा प्रदर्शन करते हुए देखना अच्छा लगा। इससे हमारे पास कई विकल्प हो गए हैं. इससे हमें मजबूत टीम बनाने में मदद मिलेगी। अब टीम इंडिया शानदार प्रदर्शन करेगी।

इसलिए नहीं दिया फॉलोऑन

भारत ने न्यूजीलैंड को पहली पारी में 62 रनों पर आउट करने के बावजूद फॉलोऑन नहीं दिया। द्रविड़ ने इस फैसले का बचाव किया है। उन्होंने कहा कि हमारे पास पर्याप्त समय था और इसलिए फॉलोऑन देने के बारे में नहीं सोच रहे थे। टीम में कई युवा बल्लेबाज हैं और हम उन्हें इस तरह की परिस्थितियों में बल्लेबाजी का मौका देना चाहते थे। सभी को मौका मिलना जरूरी है।

यह भी पढ़ेंः-टीम इंडिया को मिली सबसे बड़ी जीत, 372 रनों से न्यूजीलैंड को हराया, ऐसे मिली उपलब्धि