Homeधर्म-ज्योतिषवास्तु शास्त्रVastu Tips: भूलकर भी इन 5 जगहों पर न जाएं जूते-चप्पल पहनकर,...

Vastu Tips: भूलकर भी इन 5 जगहों पर न जाएं जूते-चप्पल पहनकर, हो सकती है परेशानी

- Advertisement -

हम अपनी जिंदगी में कुछ ऐसी गलतियां कर देते हैं जो वास्तु दोष की वजह बनती हैं। कहा जाता है कि घर में वास्तु दोष होने पर आर्थिक तंगी, स्वास्थ्य संबंधी परेशानियों सहित पारिवारिक कलह तक का सामना करना पड़ सकता है। कई बार हम जूते-चप्पल ऐसी स्थान पर भी पहनकर चले जाते हैं, जिससे वास्तु दोष हो जाता है। शास्त्रों में 5 ऐसे स्थानों के बारे में बताया है कि जहां जूते-चप्पल पहनकर जाने से अशुभ होता है। इस गलती की वजह से लोगों को मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। आइये जानते हैं किन जगहों पर भूलकर भी नहीं पहनकर जाने चाहिए जूते व चप्पल-

इसे भी पढ़ें:- Vastu Tips: अगर आपके घर में भी है निगेटिव एनर्जी तो जल्द करें ये 8 काम

1. भंडार घर- वास्तु शास्त्र के मुताबिक, भंडार घर में जूते-चप्पल पहनकर कभी नहीं जाना चाहिए। अगर आप बिना जूते-चप्पल के जाते हैं तो घर में कभी भी अन्न की कमी नहीं होती है।

2. तिजोरी के पास- तिजोरी में कुछ रखने जाने से पहले जूते-चप्पल जरूर निकाल देना चाहिए। ऐसा माना जाता है कि अगर आप तिजोरी को जूते-चप्पल पहनकर खोलते या बंद करते हैं तो मां लक्ष्मी आपसे नाराज हो सकती हैं। जिसकी वजह आर्थिक तंगी का सामना करना पड़ सकता है।

3. पवित्र नदी- वास्तु शास्त्र के मुताबिक, पवित्र नदी के पास जूते-चप्पल पहनकर कभी नहीं जाना चाहिए। नदियों में स्नान करने से पहले जूते-चप्पल या चमड़े से बनी चीजें निकाल देनी चाहिए। ऐसा करने से घर में सुख-शांति बनी रहती है।

4. रसोई घर- माना जाता है कि रसोई घर में कभी भी जूते-चप्पल पहनकर नहीं जाना चाहिए। ऐसा करने से मां अन्नपूर्णा रूठ जाती हैं और जीवन में कठिनाइयों का सामना करना पड़ सकता है।

5. मंदिर- मंदिर को हिंदू धर्म में भगवान का घर माना जाता है। इसी वजह से मंदिर में कभी भी जूते-चप्पल पहनकर नहीं जाना चाहिए। ऐसा माना जाता है कि यहां जूते-चप्पल पहनकर जाने से देवी-देवता रूठ जाते हैं।

इसे भी पढ़ें:- Vastu Tips : इन तरीकों से रखे लॉफिंग बुद्धा, सुख समृद्धि का होगा घर में आगमन

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here