आज चैत्र अमावस्या पर बन रहे 4-4 शुभ योग! जानें शुभ मुहुर्त और पूजा विधि

चैत्र अमावस्या पर कुछ खास योग भी बन रहे हैं जिनके इस दिन का महत्व और अधिक हो रहा है। वह लोग जिनकी कुंडली में कालसर्प दोष है, वह इसका निवारण भी कर सकते हैं।

0
278
Chaitra Amavasya 2022

अमावस्या या पूर्णिमा दोनों को ही हिंदू धर्म में बहुत मान्यता दी गई है। पर इनमें से कुछ अमावस्या पूर्णिमा को विशेष महत्व दिया जाता है आज यानी कि 1 अप्रैल 2022 शुक्रवार को चैत्र अमावस्या है इसी तिथि को पित्र दोष से मुक्त होने के लिए मुख्य द्वार पर महत्वपूर्ण बताया गया है 1 दिन पवित्र नदियों में स्नान करना, दान करने के पीछे परेशान होते हैं इस बार चैत्र अमावस्या पर कुछ खास योग भी बन रहे हैं जिनके इस दिन का महत्व और अधिक हो रहा है। वह लोग जिनकी कुंडली में कालसर्प दोष है वह इसका निवारण भी कर सकते हैं।

बन रहे आज के दिन चार शुभ योग

चैत्र अमावस्या पर आज दो बहुत शुभ योग बन रहे हैं। इस दिन पहला ब्रह्म योग बन रहा है और उसके बाद दूसरा इंद्र योग बन रहा है। आज रेवती नक्षत्र भी है इसके अतिरिक्त स्वार्थ सिद्धि योग और अमृत सिद्धि योग बन रहा है इस योग में किया गया इस स्नान और दान बहुत पुण्य प्रदान करता है।

शुभ मुहूर्त

चैत्र अमावस्या तिथि का शुभ मुहूर्त 31 मार्च दोपहर 12:22 से शुरू हुआ और 1 अप्रैल की सुबह 11:53 तक रहने वाला है इस दौरान सुबह 9:30 बजे से ब्रह्म योग रहने वाला है फिर इंद्र योग की शुरुआत होगी। सर्वार्थ सिद्धि योग 10:40 से 2 अप्रैल की शुरुआत 6:10 तक रहेगा अभिजीत मुहूर्त दोपहर 12:00 बजे से 12:50 तक रहेगा।

पूजा विधि

चैत्र अमावस्या के दिन किसी पावन नदी में स्नान करें, नहीं तो घर पर ही किसी पावन नदी का जल पानी में मिलाकर उसे स्नान कर लें। सूर्यदेव को अर्घ्य दें। पितरों का तर्पण करें चैत्र अमावस्या वाले दिन कपड़े कंबल आंवला भी इत्यादि का दान करें।

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. upvartanews इसकी पुष्टि नहीं करता है.)