Friday Remedies for Money: मां लक्ष्‍मी की कृपा पाने के लिए आज ही करें ये खास अचूक उपाय, बरसेगी दौलत!

Friday Remedies for Money: अगर आज शुक्रवार के दिन धन की देवी मां लक्ष्मी की विधि-विधान से पूजा की जाए तो अपार धन प्राप्‍त होता है. अब ऐसा करने से जीवन में कभी भी धन-दौलत कम नहीं होती है.

0
367
Shukrawar Ke Upay

Friday Remedies for Money: मां लक्ष्‍मी को शुक्रवार का दिन समर्पित है. माता लक्ष्‍मी को खुश करने के लिए शुक्रवार सबसे उत्‍तम दिन होता है. 19 अगस्‍त यानि कि आज, शुक्रवार को जन्‍माष्‍टमी भी है. अब ऐसे में ये दिन और भी अधिक खास हो गया है. अगर आज शुक्रवार के दिन धन की देवी मां लक्ष्मी की विधि-विधान से पूजा की जाए तो अपार धन प्राप्‍त होता है. अब ऐसा करने से जीवन में कभी भी धन-दौलत कम नहीं होती है. आइए मां लक्ष्‍मी की कृपा पाने के कुछ चमत्‍कारी उपायों के बारे में जानते हैं.

शुक्रवार के लिए खास उपाय

मां लक्ष्‍मी की पूजा शुक्रवार के दिन करें और इसके लिए स्‍नान करके सफेद रंग के वस्त्र धारण करें. फिर मां लक्ष्मी की फोटो के आगे बैठकर श्रीसूक्त का पाठ करें. मां लक्ष्‍मी की पूजा में कमल का फूल अर्पित करें. ऐसा करने से मां लक्ष्‍मी खुश होती हैं.

– काली चीटियों को शुक्रवार के दिन शक्‍कर खिलाएं. ऐसा करने से कामकाज में आ रही सभी रुकावटें दूर होती हैं.

शुक्रवार के दिन पीले कपड़े में एक चांदी का सिक्‍का, 5 पीली कौड़ी और थोड़ी सी केसर बांधकर अपनी तिजोरी में रखें. ऐसा करने से आर्थिक समस्‍याएं खत्‍म होंगी और धन की आवक बढ़ती जाएगी. कर्ज से भी इस उपाय द्वारा मुक्ति मिलेगी.

यदि पति-पत्नी में तनाव है तो शुक्रवार के दिन अपने बेडरूम में प्रेमी जोड़े की फोटो लगाएं, इससे आपका रिश्‍ता और भी अधिक बेहतर होगा.

माता लक्ष्मी के मंदिर में शुक्रवार को शंख, कौड़ी, कमल, मखाना और बताशा चढ़ाएं. इससे खूब सुख-समृद्धि मिलती है.

शाम के वक्त घर के मुख्‍य द्वार पर गाय के घी का दीप जला दें. ऐसा करने से मां लक्ष्‍मी का घर में आना होता है.

शुक्रवार के दिन गाय को ताजी रोटी खाने के लिए दें. हो पाए तो रोज ऐसा काम करें, इससे मां लक्ष्‍मी की कृपा रहती हैं.

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. upvartanews इसकी पुष्टि नहीं करता है.)

Read More-Janmashtami 2022: कृष्ण जन्माष्टमी के दिन करेंगे ये काम, भगवान श्रीकृष्ण की बनी रहेगी हमेशा कृपा