shani

23 मई से शनि वक्री चल रहे हैं और 11 अक्टूबर तक इसी अवस्था में विराजमान रहेंगे. साधारण तौर पर शनि की वक्री चाल के दौरान कार्य बहुत देरी से होते हैं. हमेशा किसी ना किसी से वाद-विवाद होने की संभावना बनी रहती है. वैसे तो शनी की उल्टी चाल का सभी राशियों पर प्रभाव जरूर पड़ता है, लेकिन इसमें सबसे ज्यादा शनि की ढ़ैय्या और साढ़ेसाती से पीड़ित राशि वाले लोग परेशान हो जाते हैं. आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि कौन सी वह 5 राशियां है, जिनको 11 अक्टूबर तक विशेष सावधानी रखने की जरूरत है.

मिथुन राशि

मिथुन राशि के जातकों पर शनि की ढ़ैय्या चल रही है. इसलिए शनि का वक्री होना उनके लिए कष्टकारी है. अक्टूबर तक इस राशि के लोग दिक्कत में रहेंगे. इस समय आपको बहुत ही सावधानी बरतनी होगी. किसी भी तरह के विवाद करने से बचे. जो भी कार्य होंगे वह देरी से ही होंगे, इसलिए सावधानी बरतें. सहनशीलता बनाएं रखें.

तुला राशि

शनी की ढैय्या चलने के कारण इस राशि के कार्यों में भी देरी होगी. इस राशि को शनि की उच्च राशि माना जाता है. अक्टूबर तक का समय इस राशि के लिए काफी मुश्किल वाला होगा. इसीलिए इस दौरान इनको काफी सावधानी बरतने की जरूरत होगी . निवेश करते समय ध्यान रखें और सतर्क रहें. अपने वाहन को बहुत सावधानी से चलाएं

धनु राशि

इस राशि के जातकों पर साढ़ेसाती का आखरी चरण चल रहा है. शनि के वक्री होने के कारण इस राशि के जातकों के कार्यों में देरी होगी. इसीलिए किसी भी काम में जल्दबाजी ना करें और सावधानी बरतें. किसी सगे संबंधी से आपके संबंध खराब होने के आसार हैं इसलिए अपनी वाणी में कटुता ना लाएं.

मकर राशि

इस राशि के जातकों पर साढ़ेसाती का दूसरा चरण चल रहा है. यह समय 11 अक्टूबर तक आपके लिए कष्टकारी साबित होगा . इसलिए सावधानी बरतें. दुर्घटना होने के भी कयास लगाए जा रहे हैं. आप के खर्चे भी बढ़ सकते हैं

कुंभ राशि

इस राशि के जातकों पर शनि की साढ़ेसाती का पहला चरण चल रहा है. शनि के वक्री होने पर इस राशि के सभी कार्यों में बाधा उत्पन्न होगी . इस अवधि में आपको किसी भी काम में सफलता मिलने में बहुत दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा.

इसे भी पढ़ें-1 रुपये के इस नोट के बदले कमाएं 7 लाख रुपये, जानिए कैसे?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here