shani parvat

इंसान का भाग्‍य (Luck) उसकी कुंडली के ग्रहों और हाथ की रेखाओं पर निर्भर करता है. हस्‍तरेखा शास्‍त्र (Hast Rekha Shatra) के अनुसार शनि पर्वत (Shani Parvat) भाग्य का स्वामी होता है. उसकी स्थिति और इस पर बनी रेखाएं, इस तक आने वाली रेखाएं व्‍यक्ति के भाग्‍य के बारे में कई सारे राज को खोलती हैं. इसके अतिरिक्त ये रेखा व्‍यक्ति के जीवन में जो दुर्घटनाए, बीमारी (Accidents-Disease) के बारे में भी बताता है. हाथ की सबसे बड़ी उंगली के नीचे शनि पर्वत होता है. आज हम शनि पर्वत की रेखाओं-चिह्नों के माध्यम से भविष्‍य के बारे में जान सकते हैं.

इस तरह शनि पर्वत बताता है भाग्‍य

– हाथ की सबसे बड़ी उंगली के नीचे शनि पर्वत पर वर्ग या चौकोर आकृति बनना शुभ होती है. ऐसे में अगर लोगों की जिंदगी में संकट आ जाए तो भी यह उससे साफ बच निकल लेते हैं.

– तो वहीं शनि पर्वत पर तारे का निशान दिखाई देता है , तो बड़ी दुर्घटना, बीमारी होने का संकेत मिल जाता है. ऐसा होने पर जातक के जेल जाने का योग भी बनता है.

– अगर शनि पर्वत पर क्रॉस का निशान दिखे, तो ऐसे लोग बड़ी दुर्घटना का शिकार हो सकते हैं या उनकी असमय मौत होने के भी आसार हो सकते हैं.

– जिन जातकों के हाथ में शनि पर्वत पर कोई खड़ी रेखा होती है, वो खुद तो भाग्‍यशाली होते ही हैं इसी के साथ ही अपने करीबियों के लिए भी भाग्‍यशाली माने जाते हैं.

– शनि पर्वत पर 2 खड़ी रेखाओं का होना मेहनत और संघर्ष का संकेत देता है लेकिन ऐसे जातकों को सफलता जरूर मिलती है.

– सीढ़ीनुमा संरचना अगर शनि पर्वत पर होती है, तो व्‍यक्ति ऊंचा मुकाम हिसाल करता है और बहुत ही अमीर इंसान बनता है.

– जिनके हाथ में शनि पर्वत पर त्रिशूल का निशान दिखाई देता है, तो भगवान शिव के विशेष कृपा पाते हैं और कम उम्र में ही आसानी से अधिक सफलता पाते हैं.

(नोट: इस लेख में दी गई सूचनाएं सामान्य जानकारी और मान्यताओं पर आधारित हैं. upvartanews इनकी पुष्टि नहीं करता है.)

यह भी पढ़ें:-BSP प्रमुख मायावती ने सरकार पर कसा तंज, बाढ़ पीड़ितों के लिए उठाई आवाज