Shani dev Upay shanivar

हिन्दू धर्म में शनि को नवग्रहों में महत्वपूर्ण ग्रह माना गया है। माना जाता है कि शनिदेव जिन लोगों पर अपनी कुदृष्टि डाल देते हैं, उस व्यक्ति का सब कुछ नष्ट हो जाता है। इसी कारण शनिदेव को न्याय का देवता कहा जाता है। शनिदेव ईमानदार और मेहनती लोगों पर अपनी कृपा बनाए रखते हैं। 12 राशियां होती हैं और प्रत्येक राशि का अपना स्वामी ग्रह भी होता है। इसी प्रकार कुंभ और मकर राशि के स्वामी शनि देव हैं। माना जाता है कि इन दो राशियों पर शनि देव की हमेशा कृपा रहती है। माना जाता है कि शनि देव की कृपा होने से इन राशि वालों को जीवन में कम मुश्किलों का सामना करना पड़ता है।

1. कुंभ- शनिदेव कुम्भ राशि के स्वामी ग्रह हैं। जिसकी वजह से कुंभ राशि के जातक सरल स्वभाव के होते हैं। ये हमेशा दूसरों की सहायता के लिए तैयार रहते हैं। दूसरों की सहायता करने वालों पर शनिदेव हमेशा खुश रहते हैं।

2. मकर- इस राशि के जातक बहुत ही भाग्यशाली माने जाते हैं। इन पर शनिदेव की कृपा हमेशा बनी रहती है। इस राशि के लोग दूसरों के दुख को अपना दुःख समझते हैं। सरल स्वभाव की वजह से शनिदेव इन पर अपनी कृपा रखते हैं।

ये राशियां साढ़े साती में है

इस समय में शनि की महादशा की चपेट में धनु, कुंभ और मकर राशि के जातक हैं। धनु राशि पर शनि की साढ़े साती का तीसरा चरण चल रहा है। शनि का राशि परिवर्तन 29 अप्रैल 2022 को हो जाएगा। शनि के राशि परिवर्तन के साथ ही धनु राशि वालों को शनि की साढ़े साती से मुक्ति मिल जाएगी। धनु राशि के बाद मीन राशि वालों पर शनि की साढ़े साती शुरू हो जाएगी।

इन राशि पर चल रही शनि की ढैय्या

इस समय मिथुन और तुला राशि वालों पर शनि ढैय्या चल रही है। शनि के राशि परिवर्तन करने के बाद कर्क और वृश्चिक राशि वाले शनि ढैय्या की दृष्टि में आ जाएंगे। इस दौरान जातकों को बहुत मुश्किलों का सामना करना पड़ेगा।

इसे भी पढ़ें:- आज से सस्ता सोना खरीदने का मिल रहा सुनहरा मौका, जानिए क्या है कीमत

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here