शनिदेव अपनी राशि में होने जा रहे हैं वक्री, इन राशियों पर रहेगी तिरछी नजर

शनि देव 30 वर्ष बाद अपनी राशि में वक्री होने जा रहे हैं। वे 141 दिन उल्टी चाल चलेंगे । जिसके बाद 12 जुलाई से मकर राशि में प्रवेश करेंगे।

0
462
Shani

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार जब भी शनि देव किसी राशि में वक्री होने जा रहे हैं। तो कई राशियों के जातकों के जीवन पर बहुत बड़ा प्रभाव पड़ता है। आज से शनिदेव अपनी राशि यानी कुंभ राशि में वक्री होने जा रहे हैं जिससे कई राशियों पर बहुत अच्छा प्रभाव पड़ेगा तो कई राशियों पर इसका बहुत बुरा प्रभाव पड़ेगा। शनि देव 30 वर्ष बाद अपनी राशि में वक्री होने जा रहे हैं। वे 141 दिन उल्टी चाल चलेंगे । जिसके बाद 12 जुलाई से मकर राशि में प्रवेश करेंगे। इसी बीच कई राशि के जातकों पर बुरा प्रभाव पड़ेगा तो कहीं राशि के जातकों की जिंदगी में अच्छा होगा। आइए जानते हैं….

इन राशि के जातकों के लिए होगा लाभकारी

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार शनिदेव का कुंभ राशि में वक्री होने जा रहे हैं। मेष वृषभ मिथुन और धनु राशि वालों के जातकों के लिए अच्छा साबित होने वाला है। इस राशि के जातकों के करियर में कई सारे बदलाव होंगे। इस राशि के जातकों का भाग्य बदल जाएगा कार्य क्षेत्र में अच्छी सफलता मिलेगी, धन की प्राप्ति होगी। कुछ राशि वालों के लिए तो बुरा साबित होने वाला है आइए जानते हैं उनके बारे में….

इन राशि के जातकों पर पड़ेगा बुरा प्रभाव, करें ये उपाय

मीन राशि कुंभ राशि और मकर राशि वालों के लिए शनिदेव का कुंभ राशि में वक्री होना अच्छा साबित नहीं होने वाला है। इन राशि के जातकों पर शनि की साढ़ेसाती चल रही है और कर्क, वृश्चिक राशि पर ढैय्या चल रही है। जिससे इन राशि के जातकों पर शनिदेव अपनी तिरछी नजर बनाए रखेंगे। इनके करियर में मुसीबतों की वृद्धि हो सकती है। इन राशि वालों को यह उपाय करने चाहिए….

-इन राशि जातकों को शनिवार को पीपल के पेड़ के नीचे सरसों के तेल का दीपक जलाना चाहिए।
-संध्या मंदिर जाकर संडे को तेल।
-कटोरी में तेल और उसमें अपना मुख देखें फिर कटोरे सहित तेल को शनि मंदिर में रख दें ।
-शनि चालीसा का पाठ करें।
-काले तिल और उड़द काले कपड़े का दान भी करें

Read More-Akshay Kumar ने कहा- मैं दसवीं तक 3 बार फेल हुआ हूं, लोगों ने लिए मजे