Saturday, January 23, 2021
Home धर्म-ज्योतिष सावन में इस तरह करें भगवान शिव की पूजा, मिलेगा मनचाहा वर,...

सावन में इस तरह करें भगवान शिव की पूजा, मिलेगा मनचाहा वर, पूरी होगी मनोकामना

सावन का महीना (Sawan 2020) भगवान शिव का सबसे प्रिय होता है. शिव भक्त सावन सोमवार के व्रत भी करते हैं और पूरे माह भोले की भक्ति में लीन रहते हैं. ऐसी मान्यता है कि, सावन के माह में अगर पूरी श्रद्धा के साथ भगवान शिव की पूजा-अर्चना की जाए तो भक्तों की सारी मनोकामनाएं जरूर पूरी होती हैं. कहा जाता है कि, जिन लड़कियों की शादी में अड़चन आ रही होती है अगर वह सावन में भोले की पूजा करें तो उन्हें सुयोग्य वर की प्राप्ति होती है.

कब से शुरू होगा सावन
इस बार सावन 6 जुलाई से शुरू होगा और 3 अगस्त को इसका समापन होगा.

अविवाहित कन्याएं ऐसे करें पूजा
सावन में वैसे तो सब पूरी भक्ति के साथ पूजा करते हैं. पर अविवाहित लड़कियां अगर विशेष विधि-विधान से पूजा और व्रत करें तो उन्हें मनचाहे वर की प्राप्ति होती है. साथ ही शादी में आ रही अड़चनें भी दूर हो जाती हैं.

मां पार्वती ने किया था तप
धार्मिक ग्रंथों में सावन सोमवार के महत्व को पूरे विस्तार से बताया गया है. मान्यता है कि, भगवान शिव को पति के रूप में पाने के लिए मां पार्वती ने सावन माह में कठिन तप किया था और पूरे 16 सोमवार का व्रत किया था.shiv-parwati तब जाकर उन्हें पति के रूप में शिव प्राप्त हुए. भगवान शिव ने मां पार्वती की भक्ति और तप से प्रसन्न होकर उन्हें वरदान भी दिया था कि, इस तरह पूजा-पाठ करने से अविवाहित लड़कियों को योग्य वर अवश्य मिलेगा.

कैसे करें सोमवार व्रत
सोमवार के दिन प्रातः उठकर पूरे घर की साफ-सफाई करें और गंगाजल को नहाने के पानी में मिलाकर स्नान कर साफ स्वच्छ कपड़े पहने. sawan pooja vidhiवैसे हरा रंग भगवान को प्रिय होता है इसलिए हरे रंग का धारण करें तो बेहतर होगा. फिर भगवान सूर्य को जल अर्पित करें और पास के मंदिर या घर में ही शिवलिंग की पूजा करने के लिए जलाभिषेक, पंचामृत रुद्राभिषेक करें.

पूजा में अर्पित करें ये चीजें
इसके बाद बिल्व पत्र (ध्यान रहे कि बिल्व पत्र कटा या फटा न हो), , भांग, धतूरा आदि से पूजा-अर्चना करें. और मन ही मन शादी की कामना करें और आखिर में आरती के साथ पूजा का समापन करें. sawan 2020पूरा दिन उपवास रखने के बाद शाम को आरती करें और फलाहार का सेवन करें. फिर अगले दिन पूजा-पाठ कर व्रत खोल लें. संभव हो तो जरूरतमंद लोगों को दान भी दें.

ये भी पढ़ेंः- इस बार सावन पर विशेष संयोग, जानें कब शुरू होगा पवित्र महीना और सोमवार व्रत की तिथियां

Most Popular