21 फरवरी को है गुप्त नवरात्रि की महानवमी, समापन के दिन करें ये उपाय, चमक जाएगी आपकी किस्मत

gupt navratri

जो नवरात्री माघ महीने में पड़ती हैं उसे गुप्त नवरात्रि कहा जाता है। इस साल गुप्त नवरात्रि 12 फरवरी से शुरू हुई थी, जिसका समापन 21 फरवरी को हो रहा है। गुप्त नवरात्रि में मां की दस महाविद्याओं की आराधना और साधना करने का विधान है। ऐसा माना जाता है जो लोग सिद्धियां प्राप्त करना चाहते हैं उन लोगों के लिए गुप्त नवरात्रि का समय माना जाता है। 21 फरवरी 2021 दिन रविवार को गुप्त नवरात्रि की नवमी तिथि है। अगर किसी की आर्थिक स्थिति कमोजर है और कर्ज से परेशान हैं या फिर बार-बार कोशिश करने पर भी उन्नति नहीं हो रही है तो इस दिन कुछ इन उपायों को करने से आप इन समस्याओं के छुटकारा पाने के साथ साथ अपनी किस्मत भी चमका सकते हैं।

इसे भी पढ़ें:- सुंदरकांड पाठ के दौरान मंदिर में ‘रामायण’ पढ़ने पहुंचा बंदर, वहां बैठे लोग हुए हैरान, देखें वीडियो

कर्ज से मुक्ति
अगरआप पर किसी भी तरह का कर्ज है और कोशिश करने के बाद भी कर्ज चुकता नहीं हो पा रहा है तो आप गुप्त नवरात्रि के अंतिम दिन यानि महानवमी तिथि पर आम की समिधा से हवन अग्नि प्रज्वलित करें और उसमें गाय के शुद्ध घी में कमलगट्टे को डुबोकर दुर्गासप्तशती का पाठ करते हुए आहुति दें। हवन पूरा होने के बाद अपने घर पर नौं कन्याओं को बुलाकर पूजन करें। साथ ही उन्हें मखाने के खीर खिलाएं। उसके बाद उन्हें दक्षिणा देकर आशीर्वाद लें और उन्हें सम्मानपूर्वक विदा करें। जल्दी ही कर्ज से मुक्ति के आपके रास्ते बनने लगेंगे।

धन प्राप्ति के लिए उपाय
गुप्त नवरात्री के अंतिम दिन भोजपत्र पर केसर की स्याही से दुर्गा अष्टोत्तर शतनाम लिखें। फिर अष्टोत्तर शतनाम में लिखे मां के 108 नामों का उच्चारण करते हुए हवन में आहुति दे दें। जब हवन पूरा हो जाए तो भोजपत्र चांदी में जड़वाकर ताबीज की तरह बनवाकर अपने गले में धारण करें या फिर इसे चांदी की डिब्बी में सुरक्षित करके तिजोरी में रख दें। ऐसा करने से कभी भी धन की कमी नहीं होती है।

नौकरी और व्यापार के लिए
नवमी के दिन मां दुर्गा के समक्ष दुर्गासप्तशती के 12वें अध्याय के 21 पाठ निष्ठा से करें। उसके बाद कन्या पूजन करें और उन्हें भोजन करवाएं, इससे आपके व्यापार और नौकरी में आने वाली सभी तरह की समस्याएं और बाधाएं दूर हो जाएंगी। साथ ही आपका कारोबार भी तरक्की करने लगेगा।

उन्नति प्राप्त करने के लिए
अगर आप चारों तरफ से उन्नति प्राप्त करना चाहते हैं तो गुप्त नवरात्रि की नवमी तिथि के दिन सायंकाल के वक्त गेहूं के आटे में काले तिल मिलाकर उसे गूंथ लें अब इस आटे के 11 दीपक बनाकर इसमें सरसों का तेल डालकर मां आदिशक्ति के मंदिर में प्रज्जवलित करें। वहीं पर बैठकर दुर्गा चालीसा का पाठ करें। ऐसा करने से इससे आपकी सभी मनोकामनाएं पूरी हो जाएंगी।

इसे भी पढ़ें:- गुरु बृहस्पति के गोचर से इन राशि के जातकों को होने वाला है लाभ, जानें क्या पड़ेगा जीवन पर प्रभाव

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *