दिवाली की रात लगाएं दीपक से बना काजल, धार्मिक मान्यताओं के साथ वैज्ञानिक भी मानते हैं इस बात को

0
904
diwali_kajal
Loading...

भारत में दीपावली के त्योहार को बहुत ही धूमधाम के साथ मनाया जाता है। इस साल दीपावली का त्योहार 27 अक्टूबर को मनाया जाएगा। इस त्योहार के आने से पहले ही लोग घरों में साफ-सफाई और सजावट का काम करना शुरू कर देते हैं। दीपावली एक ऐसा त्योहार होता है जिसमें परिवार के सारे लोग इकट्ठा होते हैं। साथ में दीए जलाते हैं, घर सजाते हैं। इस त्योहार को लेकर लोगों में खासा उत्साह होता है। बच्चे-बूढ़े से लेकर हर कोई इस त्योहार को खुशी और उल्लास के साथ मनाता है। वैसे तो इस त्योहार से जुड़ी कई मान्यताएं हैं। पर कहा जाता है कि, दीवाली की रात दीपक से बना काजल आंखों पर लगाना चाहिए। इसके पीछे धार्मिक मान्यताएं भी छुपी हैं। तो चलिए जानते हैं दीवाली के दिन आंखों पर दीपक से बना काजल क्यों लगाना चाहिए।

दीपक से बना काजल
धार्मिक मान्यताओं की मानें तो, काले टीके व काजल का उपयोग बुरी नजर से बचने के लिए किया जाता है। ऐसा कहा जाता है कि, दीवाली की रात अगर दीपक से बना काजल लगाया जाए तो इससे घर-परिवार के किसी भी सदस्य को नजर नहीं लगती।diwali साथ ही सुख-शांति बनी रहती है। कई लोग तो इस दिन धन की तिजोरी, गैस और मेन गेट पर काला टीका लगाते हैं।

अगर वैज्ञानिकों की मानें तो, दीपक से बना काजल शुद्ध होता है और आंखों के लिए लाभदायी होता है। चूंकि, दिवाली के समय पटाखें जलाए जातें है जिनसे हानिकारक धुआं निकलता है जो आंखों के लिए लाभदायी नहीं होता।diwali1 इसलिए आंखों को धुएं के बुरे प्रभाव से बचाने के लिए काजल लगाया जाता है। साथ ही घर के बड़े-बुजुर्ग दीपक से बने काजल को लगाना शुभ मानते हैं। ये भी पढ़ेंः- इन 7 चीजों को दिवाली से पहले दिखाएं बाहर का रास्ता, मिलेगा मां लक्ष्मी का आशीर्वाद, पूरी होगी मनोकामना

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here