Monthy horoscope 2021

जुलाई मासिक राशिफल (July Monthly Horoscope): आपकी राशि के लिए कैसा रहेगा जुलाई माह और किस राशि को मिलेगा धन व परिवार का सुख।

मेष (Aries): इस माह किसी मांगिलक कार्य करने से बचें, अन्‍यथा मांगलिक कार्यों में बाधा आ सकती है, जिससे जातक तनाव महसूस कर सकता है। पारिवारिक परेशानियाँ आ सकती है। धर्म-कर्म के पालन में भी अवरोधों का सामना करना पड़ सकता है। व्यापार की दृष्टि से यह माह मिलाजुला रहेगा। सूझ-बूझ से व्यापार में पैसा लगायें नहीं तो धन हानि की स्थिति बन सकती है। ऋण भार बढ़ सकता है। धन संग्रह में भी कमी आ सकती है। बाजार एवं शेयर मार्केट की नब्ज समझकर ही निर्णय लें तभी धन लगायें। हनुमान जी का स्मरण करें और उनसे बल बुद्धि का आशीर्वाद मांगे ताकि जातक परिस्थितियों को अनुकूल करने में सफल हो सकें।

वृष (Taurus): इस माह जातक उत्साहित एवं हर्षोल्लासित होगा। स्त्री, संतान एवं सगे-संबंधियों से सुख की प्राप्ति होगी यद्यपि दाम्पत्य जीवन में कुछ मतभेद की स्थितियाँ बनेगीं लेकिन सगे-संबंधियों से सहयोग मिलने के कारण सुख की प्राप्ति होगी। शारीरिक स्वास्थ्य सामान्य रहेगा। रोजी-रोजगार की दृष्टि से भी यह माह सामान्य एवं लाभकारी दोनों स्थितियों में रहेगा। अनावश्यक ऋण लेने से बचें नहीं तो तनाव का सामना करना पड़ा सकता है। विद्यार्थियों के लिए यह समय सामान्य रहेगा। रोजी-रोजगार के क्षेत्र में किये गये प्रयास सफल हो सकते है। सब मिलाकर यह माह लगभग अनुकूल रहेगा। रणनीति बनाकर किये गये कार्यों का अनुकूल फल प्राप्त होगा।

मिथुन (Gemini): जातक यदि सोच-समझकर घर परिवार के कार्यों में रुचि लेगा तो पारिवारिक सुख की प्राप्ति होगी। यह माह सामान्य सफलतादायक होगा। कई महत्वपूर्ण कार्य पटरी पर आयेगें। साहस एवं पराकर्म में वृद्धि होगी। भाई-बहनों का सुख एवं सहयोग में जातक थोड़ा कमी महसूस कर सकता है। चोरी का भय, आकस्मिक हानि जैसी परेशानी से जातक परेशान हो सकता है। अधिक परिश्रम से जातक स्थितियों को अनुकूल बना सकता है। इससे धन की वृद्धि का योग भी बनेगा। कठिन परिश्रम से ही हर कार्य पटरी पर आने की स्थिति बन सकती है। दुष्टजनों की संगत से बचें। व्यापार आदि की दृष्टि से यह समय प्रयत्न एवं परिश्रम से कारोबार में सफलता एवं वृद्दिदायक होगा। धनार्जन की स्थिति बनेगी।

कर्क (Cancer): इस माह इस राशि वालों का मान-सम्मान बढ़ेगा। कर्तव्य पालन में दक्षता बढ़ेगी। जातक अपने कार्यों को दृढ़तापूर्वक करने में सफल हो सकता है। नवीन कार्यों की योजना बन सकती है। यदि कोई मुकदमा चल रहा होगा तो उसमें विजय की संभावना अधिक है। अत्याधिक भागदौड़, परिश्रम एवं व्यस्तता के कारण जातक को तनाव मिल सकता है। व्यापार में लाभ एवं हानि दोनों की स्थितियाँ बन सकती है। खर्च में कमी का प्रयास करना चाहिए नहीं तो आर्थिक दबाव का सामना करना पड़ सकता है। बच्चों की पढ़ाई-लिखाई एवं पत्नी के सुख में अवरोधों का सामना करना पड़ सकता है। व्यापारियों के लिए समय लगभग अनुकूल है परिश्रण एवं सूक्ष-बूझ से व्यापार बढ़ेगा।

सिंह (Leo): इस माह घूमने फिरने का अवसर मिल सकता है प्रवास एवं अच्छे स्थानों पर पहुँच कर चिंतन करने की स्थिति बन सकती है। समानों के क्रय-विक्रय में लाभकारी स्थितियाँ बनेगीं। इस माह कुछ समस्यायें जातक को घेरी रह सकती है। जिससे मानसिक तनाव में वृद्धि होगी कार्यों में झंझट या रुकावटें आ सकती है। धन संबंधी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है जिससे मन थोड़ा अशांत रह सकता है। जातक यदि सूझ-बूझ से कार्य करेगा। तो बिगड़े कार्य पटरी पर आयेगें। ज्यादा ऋण का लेन-देने न करें। शत्रुओं एवं प्रतिस्पर्धियों की वृद्धि हो सकती है। व्यापार आदि में श्रमायुक्त प्रयास से लाभकारी स्थितियाँ बनेगीं।

कन्या (Virgo): इस माह शुभ कार्यो में वृद्धि होगी और जातक का मन भी धर्म-कर्म में रमेगा। विरोधी एवं शत्रुओं का नाश होगा। धन एवं यश में वृद्धि का योग है। स्वादिष्ट एवं अच्छे भोजन का योग बन सकता है। पारिवारिक सुख एवं घरेलू सुविधाओं में विकास होगा लेकिन खर्च की अधिकता हो सकती है। अधिक कार्य व्यस्तता के कारण शारीरिक आलस्य या तनाव की स्थिति बन सकती है। वाहन से संबंधित परेशानी का योग है। पारिवारिक तनाव एवं अशांति का भी योग बन सकता है। व्यापार की दृष्टि से यह समय मध्यम लाभदायक होगा। सूझ-बूझ से किये गये व्यापार में विशेष उन्नति का योग बन सकता है।

तुला (Libra): इस माह घरेलू खर्च में वृद्धि का योग है। पारिवारिक सुख मिल सकता है। धन लाभ की स्थितियाँ बनेगीं। मान-सम्मान में वृद्धि का योग है। इस माह शुभ फलदायक स्थितियाँ बनेगीं। जातक के प्रभाव एवं प्रताप में वृद्धि होगी। धन संग्रह में वृद्धि होगीं। आवश्यक कार्यों में सफलता का योग बनेगा। बकाये धन की वापसी हो सकती है। भोजन शयन आदि की दिनचर्या अनियमित रहेगी। अनावश्यक भागदौड़ की स्थितियाँ बनी रह सकती है। धीरे-धीरे परिस्थितियाँ आपके अनुकूल होगीं। श्रेष्ट विचारों का उदय होगा। अध्यात्म के प्रति रुचि बढ़ सकती है।

वृश्चिक (Scorpio): जातक के मान-सम्मान में वृद्धि का योग है। पारिवारिक सुखों में भी वृद्धि होगी। आय बढ़ेगी। धन लाभ का योग है। घरेलू खर्च में भी वृद्धि का योग है। सुख-सुविधाओं में भी व्यय हो सकता है। विषम परिस्थिति के होते हुए भी जातक उऩ्नति एव ख्याति प्राप्त करने में सफल हो सकता है। दान-पुण्य में रुचि बढ़ेगी। धन लाभ के नये-नये साधन बनेगे जिससे आर्थिक स्थितियाँ पटरी पर आ सकती है। उच्च अधिकारियों को प्रसन्न करने में जातक सफल हो सकता है। जिसके कारण जातक कुछ आर्थिक लाभ कमाने में भी सफल हो सकता है। माह का प्रारम्भ थोड़ा संघर्षमय रहेगा लेकिन माह का उत्तरार्ध अनुकूल रहेगा। धन लाभ स्वास्थ्य लाभ एवं आनन्दमय स्थितियाँ बनेगीं। शत्रु पराजित होगें। सुख-सुविधाओं में वृद्धि होगीं। वाहन का भी सुख प्राप्त हो सकता है।

धनु (Sagittarius): इस माह कोई नया व्यवसाय न शुरु करें नहीं तो उसमें हानि की संभावना बन सकती है। शनि की साढ़े साती थोड़ी तनाव दे सकती है । यात्रा करने से बचें नहीं तो कोई भारी कष्ट मिल सकता है। खर्च की अधिकता से भी बचें नहीं तो तनाव का सामना करना पड़ सकता है। यह महीना शुभ-अशुभ फल देने वाला होगा यद्यपि शुभता का योग अधिक रहेगा इसलिए व्यापार आदि के क्षेत्र में किया गया निवेश लाभप्रद रहेगा और जातक को भी लाभ मिलेगा। स्वास्थ्य उत्तम रहेगा। धन द्रव्य वस्त्र आदि का लाभ मिल सकता है। भावुकता में कोई निर्णय न लें। सोच-समझकर ही कार्य करें तभी स्थितियाँ पटरी पर आयेगीं। विद्यार्थियों का मन पढ़ाई-लिखाई में लगेगा लेकिन मानिसक उलझनों से बचें।

मकर (Capricorn): इस माह संतान से किसी बात को लेकर मतभेद हो सकता है। जीवनचर्या कष्टप्रद एवं दबाव पूर्ण हो सकती है। शनि की साढ़े-साती का उग्र प्रभाव अभी बना रहेगा। इसलिए सावधानी बनाये रखें। चोरों से सावधान रहें, नहीं तो धन एवं पशु की हानि हो सकती है। इस माह नवीन कार्य होने की संभावना बन सकती है। कार्यों की अधिकता एवं मानसिक तनाव और उलझन के कारण दबाव मिल सकता है। व्यापार में लाभ-हानि दोनों समान रुप से चलेगें। इसलिए व्यापारियों को सावधान रहना चाहिए। सोच-समझकर ही व्यापारिक क्षेत्रों में पैसा लगायें। संतान एवं पत्नी से दुख का योग है। जीवन की खुशियों में कमी आ सकती है। बच्चों की पढ़ाई लिखाई में तनाव मिल सकता है। इसलिए बच्चों की पढ़ाई पर भी निगाह बनायें रखनी होगी।

कुंभ (Aquarius): इस माह थोड़ी सावधानी रखें क्योंकि अकस्मिक दुर्घटना का योग बन सकता है। यद्यपि मन में उत्साह एवं उमंग बनी रहेगी जिससे जातक निरन्तर क्रियाशील बना रहेगा। नौकरी पेशा वाले व्यक्तियों को उतार-चढ़ाव वाली स्थितियों का सामना करना पड़ सकता है। अपने सहयोगी एवं अधिकारियों से ताल-मेल बना कर रखें। क्रोध एवं वाणी पर नियन्त्रण बनाये रखें और सावधानी से काम लें। अनियमितता के कारण उत्तम भोजन या शयन में व्यतिक्रम की स्थिति बन सकती है जिससे स्वास्थ्य प्रभावित हो सकता है। इस माह किसी शुभ समाचार की प्राप्ति हो सकती है। धार्मिक प्रवृत्ति जागृत होगी। जिससे पूजा-पाठ में मन लगेगा। अचानक कोई बना काम रुक सकता है या बिगड़ने की स्थिति आ सकती है इसलिए सावधानी बनायें रखें।

मीन (Pisces): इस माह आर्थिक स्थितियाँ सामान्य लाभकारी हो सकती है। सोच-समझकर ही कार्य-व्यापार को आगे बढ़ायें घरेलू वातावरण सुखमय एवं अनुकूल बना रहेगा। इस माह शुभाशुभ मिश्रित फलकारक स्थितियाँ रहेगीं। कभी-कभी आय से अधिक व्यय होने से मन खिन्न एवं परेशान हो सकता है। प्रतिकूल कार्यों को समाप्त करना जातक के पक्ष में रहेगा। अनावश्यक तर्क-वितर्क से हानि हो सकती है। पत्नी एवं संतान के कारण कष्ठ का योग बन सकता है। जातक के मन में अपमान का बोध हो सकता है। भौतिक सुख-सुविधाओं में वृद्धि का योग है। विष्णु जी की पूजा एवं सुन्दरकाण्ड का पाठ करने से स्थितियाँ पटरी पर आयेगीं और कई समस्याओं से मुक्ति मिलेगी।

Source: डॉ. त्रिलोकीनाथ (ज्योतिर्विद्)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here