सूर्य देव को अर्घ्य देने से बनते हैं बिगड़े काम, लेकिन भूलकर भी ना करें इन 6 गलतियों को

503
surya dev jal arghya dete hue konsi galti nahi karni

सूर्य देव की कृपा पाने के लिए लोग सुबह-सुबह उठकर उन्हें अर्घ्य देते हैं. शास्त्रों में सूर्य के अर्घ्य को काफी महत्व दिया गया है. खासतौर से उन लोगों के लिए जिन्हें अधिक क्रोध आता हो. वैसे तो सूर्य को अर्घ्य देने से न सिर्फ शांति मिलती है बल्कि समाज में मान-सम्मान भी बढ़ने लगता है और कुंडली में सूर्य से संबंधित दोष दूर होने लगते हैं. लेकिन कई बार लोग अर्घ्य देते हुए ऐसी गलतियां कर जाते हैं जिस वजह से उन्हें कर्मों का फल मिल ही नहीं पाता है. आज हम आपको उन्हीं 6 गलतियों के बारे में बताएंगे जिन्हें करने से सूर्य देवता नाराज हो जाते हैं.

भूलकर भी ना करें 6 गलतियां

सिर्फ जल अर्पित ना करें
जब भी सूर्य देव की पूजा करें तो उन्हें लाल फूल, गुड़हल का फूल और चावल अर्पित जरूर करें और मीठे का भोग लगाएं. खाली जल भूलकर भी सूर्य देव को अर्पित नहीं करना चाहिए.surya dev arghya ऐसा करने से भगवान रुष्ट हो जाते हैं. इसलिए जल के साथ पुष्प या अक्षत जरूर रखें. चाहें तो जल में रोली, चंदन या लाल फूल भी डाल सकते हैं.

पैरों में ना पड़े जल
सूर्य को अर्घ्य लोटे से दें लेकिन ध्यान रहे कि, जल के छीटें आपके पैरों पर ना पड़ें. इसके पीछे कारण ये है कि,surya-dev-jal जो व्यक्ति सूर्य को जल देते हुए अपने पैरों में ही जल डालने लगता है उसे सूर्य देव का आशीर्वाद नहीं मिलता.

किस वक्त दें जल
अगर कुंडली में दोष है तो नियमित रूप से सूर्य देव को जल अर्पित करें और रविवार के दिन तो खासतौर से करें. लेकिन सूर्य को ब्रह्म मुहूर्त में जल अर्पित करने से ही लाभ मिलता है.surya dev jal इसलिए प्रातः स्नान आदि कर साफ स्वच्छ वस्त्र धारण कर ही सूर्य को जल चढ़ाएं.

तांबे का लोटा
सूर्य को अर्घ्य देते हुए तांबे के लोटे का उपयोग करें और पात्र को अपने दोनों हाथों से पकड़ें.surya dev jal (2) फिर सिर के ऊपर से चढ़ाएं. ऐसा करने सूर्य की किरणें सीधा शरीर पर पड़ती हैं.

दिशा का ध्यान
जल तो कई लोग चढ़ाते हैं लेकिन कुछ लोग गलत दिशा में जल चढ़ा देते हैं जो गलत है. इसलिए सूर्य को जब भी अर्घ्य दें तो ध्यान रखें कि, आपका मुख पूर्व दिशा की तरफ हो.surya_puja_jal अगर कभी सूर्य देव खराब मौसम की वजह से नजर नहीं आरहे हैं तो भी पूर्व दिशा की तरफ मुख करके जल अर्पित करें. जल चढ़ाते हुए ध्यान रखें कि, सूर्य की किरणों की धार जरूर नजर आए.

ये भी पढ़ेंः- कर्ज मुक्ति और सफलता के लिए करें ये उपाय, चमकने लगेगी किस्मत